सेनेगल में तिरंगा महोत्सव, पद्मश्री मुकुंद नायक और उनकी टीम ने पेश की झारखंड की वीरगाथा

विदेशी सरजमी पर बजा झारखंड का डंका, 3को होगा महोत्सव का समापन
रांची। पश्चिमी अफ्रीकी देश सेनेगल की राजधानी डकार में आयोजित तीन दिवसीय तिरंगा महोत्सव का आगाज हुआ। महोत्सव के पहले दिन आज शुक्रवार को विदेशी सरजमीं पर झारखंड का डंका बजा। झारखंड की टीम ने पद्मश्री मुकुंद नायक के नेतृत्व में नागपुरी गीत (मर्दानी झूमर) 15 अगस्त आये, भारत आजादी पाये, आजादी ले जन-जन हर्षाए, अकाशे तिरंगा लहराये…. पेश किया। इसके अलावा भगवान बिरसा मुंडा की जीवन गाथा और संघर्ष के साथ ही झारखंड की संस्कृति से जुड़े कार्यक्रमों को पेश किया गया। एक से तीन फरवरी तक होने वाले तिरंगा महोत्सव में भारत की तीन टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनमें से झारखंड से एक टीम पद्मश्री मुकुंद नायक की भी है। इस टीम में 12 सदस्य हैं। टीम में पद्मश्री मुकुंद नायक के अलावा मांदर वादक सुदामा सिंह, ढोल वादक किशोर नायक, ढाक वादक किशोर महली, बांसुरी वादक रामेश्वर मिंज के अलावा आनंद नायक, सूर्यकांत नायक, भोला नायक, अभिषेक बड़ाईक, विनिता कुमारी, लक्ष्मी कच्छप और नूतन लकड़ा शामिल हैं।
छह को संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से भी नवाजे जायेंगे पद्मश्री मुकुंद नायक
पद्मश्री मकुंद नायक छह फरवरी को नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से भी नवाजे जायेंगे। सेनेगल में तिरंगा महोत्सव में शामिल होकर भारत लौटने पर वे ऱाष्ट्रपति के हाथों प्रतिष्ठित पुरस्कार ग्रहण करेंगे।

This post has already been read 7520 times!

Sharing this

Related posts