सुल्तानपुरी सिख विरोधी दंगा केस में गवाह से हुई जिरह

नई दिल्ली। 1984 में दिल्ली के सुल्तानपुरी सिख विरोधी दंगा मामले में पूर्व कांग्रेस नेता सज्जन कुमार के खिलाफ दायर मामले में आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में गवाह चाम कौर का क्रास-एग्जामिनेशन किया गया। इस मामले पर अगली सुनवाई 4 फरवरी को होगी। आज सज्जन कुमार को कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया। पिछले 22 जनवरी को कोर्ट ने सज्जन कुमार के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया था जिसके बाद सज्जन कुमार को कोर्ट में पेश किया गया था। सज्जन कुमार एक दूसरे सिख विरोधी दंगों के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद दिल्ली की मंडोली जेल में बंद हैं। सज्जन कुमार ने 31 दिसंबर 2018 को दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट में सरेंडर किया था। ये केस सुल्तानपुर का है। इस केस को दर्ज करने का आदेश सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए बनी नानावती आयोग ने दिया था। पिछले 16 नवंबर को इस केस की मुख्य गवाह चाम कौर ने पटियाला हाउस कोर्ट में अपनी गवाही के दौरान कोर्ट में उपस्थित सज्जन कुमार की पहचान की थी। उसके पहले 20 सितंबर को चाम कौर ने आरोप लगाया था कि उन्हें कोर्ट में गवाही देने से रोका जा रहा है। चाम कौर ने पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर कर अपनी सुरक्षा की मांग की थी। चाम कौर ने कहा था कि उन्हें फोन पर धमकी दी जा रही है कि अगर उसने कोर्ट में गवाही दी तो गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार हो जाएं। चाम कौर ने कहा था कि 19 सितंबर की रात दिल्ली के सुल्तानपुर माजरा के पूर्व कांग्रेस विधायक जय किशन के लोगों ने उसके घर आकर धमकी दी। उन्हें पैसे का भी लालच दिया गया।

This post has already been read 7562 times!

Sharing this

Related posts