सीसीएल मुख्यालय दरभंगा हाउस के समक्ष ठेका मजदूरों का आक्रोश प्रदर्शन ।

Ranchi: रांची सीसीएल मुख्यालय दरभंगा हाउस में 15 , 16 वर्षों से कार्यरत ठेका मजदूर को केंद्र सरकार के न्यूनतम मजदूरी 628 रुपया भुगतान करने की मांग को लेकर हजारों मजदूरों में आक्रोष पूर्ण प्रदर्शन किया।
रांची सीसीएल दरभंगा हाउस के समक्ष ठेका मजदूरों ने गगन भेदी नारों के साथ प्रबंधन के विरोध में जमकर नारेबाजी की जिसका नेतृत्व एटक के महासचिव अशोक यादव, भाकपा राज्य सचिव महेंद्र पाठक, जिला सचिव अजय सिंह कर रहे थे । लोगों को संबोधित करते हुए एटक के महासचिव अशोक यादव ने कहा कि दरभंगा हाउस के पदाधिकारी एवं ठेकेदारों के मिली भगत से केंद्र सरकार के निर्धारित न्यूनतम मजदूरी को भी मजदूरों को भुगतान नहीं किया जा रहा है। जिसे मजदूरों में काफी आक्रोश है । मजदूरों को ना तो अभी तक पहचान पत्र दिया गया ,ई एस आई,इपीएफ के पहचान पत्र किसी को नहीं मिला। राज्य सरकार के भी न्यूनतम मजदूरी मजदूरों को नहीं दिया जा रहा है। न्यूनतम मजदूरी मांगे जाने पर 20 मजदूरों को काम से हटा दिया गया । जिससे मजदूरों में काफी आक्रोश है । अगर समय रहते प्रबंधन मजदूरों की समस्या का समाधान नहीं किया तो आगे बड़ी लड़ाई लड़ी जाएगी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रदेश सचिव महेंद्र पाठक ने कहा कि पूरे सीसीएल क्षेत्र में भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुका है । ठेकेदारी मजदूर दरभंगा हाउस का हो या माइनिंग क्षेत्र में आउटसोर्सिंग का हो कहीं भी हाई पावर कमेटी के फैसले को लागू नहीं किया गया है। सीसीएल प्रबंधन और ठेकेदार के गठजोड़ के कारण मजदूरों की पसीने की कमाई लूटी जा रही है।

This post has already been read 1217 times!

Sharing this

Related posts