श्रीरामलला की पहली आरती : अतिथि बजायेंगे घरी-घंट, भारतीय वाद्ययंत्रों से गूंजेगा परिसर

अयोध्या। श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने वाले अतिथि भी इनकी पहली आरती में शामिल होंगे। इतना ही नहीं, वे अपने-अपने हाथों में घंटियां थामेंगे और आरती के समापन तक उसे बजाते रहेंगे।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास ने इसकी तैयारी की है। तीर्थ क्षेत्र न्यास ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि भगवान की प्राण प्रतिष्ठा के बाद उनकी पहली आरती होगी। इस आरती में सभी अतिथि भी शामिल होंगे। अतिथियों के हाथ में घंटी रहेगी और अपने अपने हाथों में थामे अतिथि इन घंटियों को आरती के समापन तक बजाते रहेंगे।

आरती के समय होगी पुष्पवर्षा

आरती के समय पुष्पवर्षा भी होगी। इसके लिए सेना के जवानों को चुना गया है। ये चुनिंदा जवान हेलीकॉप्टर में बैठकर आसमान से अयोध्या में पुष्प वर्षा करेंगे।

भारतीय वाद्ययंत्रों की गूंजेगी ध्वनियां

श्रीरामलला की आरती को ऐतिहासिक क्षण बनाने के लिए अलग-अलग भारतीय वाद्ययंत्रों के वादन की तैयारियां भी हैं। वाद्ययंत्र बजाने वाले कलाकार मंदिर परिसर के भीतर ही मौजूद होंगे। इस दौरान 30 कलाकार अलग-अलग भारतीय वाद्यों का वादन करते रहेंगे। एक समय ऐसा भी होगा, जब सभी कलाकार अपने-अपने वाद्ययंत्रों का एक साथ वादन करेंगे।

This post has already been read 1505 times!

Sharing this

Related posts