लोकतंत्र के लिए खतरनाक है 92 सांसदों का निलंबन: फैज सिद्दीकी

रांची: कांग्रेस नेता फैज सिद्दीकी ने कहा कि 18 दिसंबर सोमवार को लोकसभा एवं राज्यसभा की बैठक के दौरान संसद की सुरक्षा का मामला उठाए जाने के बाद जिस प्रकार से लोकसभा के 46 एवं राज्यसभा के 35 सदस्यों को निलंबित किया गया है। वह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। श्री सिद्दीकी ने कहा कि अब तक संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान 92 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है। और यह लोकतंत्र की मान्य परंपराओं पर आघात है। जो चिंता की बात है। उन्होंने कहा इस घटना को इतिहास में एक काले अध्याय के रूप में दर्ज किया जाएगा। श्री सिद्दीकी ने कहा कि लोकतंत्र की खूबसूरती यही है। और इसका सबसे अच्छा पक्ष भी यही है। कि पक्ष और विपक्ष अपनी बातों को प्रमुखता के साथ उठना है। और तभी निर्णय लिया जाता है। लेकिन 2014 में जब से श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार काम कर रही है। तभी से संवेदनशीलता और आपसी विचार विमर्श की प्रक्रिया खत्म हो रही है। और विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। श्री सिद्दीकी ने कहा कि संसद की नवीनतम घटनाएं देश के प्रति भारतीय जनता पार्टी का विश्वासघात है। और इसे जनता अच्छी तरीके से देख रही है।

This post has already been read 1025 times!

Sharing this

Related posts