रामगढ़ में जदयू का एक दिवसीय कार्यकर्ता मंथन शिविर 21 को, सीएम नीतीश कुमार होंगे शामिल

रांची। 21 जनवरी को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की रामगढ़ में होने वाली विशाल जनसभा निमित प्रदेश जदयू के द्वारा कार्यकर्ता मंथन शिविर आयोजित किया गया। इसमें बिहार के भवन निर्माण मंत्री एवं झारखण्ड जदयू के प्रभारी डॉ अशोक चौधरी जी, सह प्रभारी और बेलहर के विधायक श्री मनोज यादव जी, प्रदेश जदयू अध्यक्ष सह सांसद श्री खीरू महतो, पूर्व मंत्री सुधा चौधरी, नीतीश ज़ोहार कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर मधुकर सिंह ने दीप प्रजलवित कर शिविर की शुरुआत की। इसमें पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष / नगर अध्यक्ष, जिला संगठन प्रभारी, प्रमंडल प्रभारी, विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष एवं पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़े प्रत्याशी मुख्य रूप से उपस्थित हुए। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष खीरू महतो एवं संचालन प्रदेश महासचिव श्रवण कुमार ने किया। इससे पहले सभी नेताओं ने बिरसा चौक स्थित वीर बिरसा मुण्डा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।
कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए डॉ अशोक चौधरी ने कहा की राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद किसी दूसरे राज्य में नीतीश कुमार जी की पहली जन सभा है, स्वभाग्य से यह अवसर प्रदेश जदयू को मिला है। 21 जनवरी की सभा झारखण्ड में जदयू और जदयू कार्यकर्ताओं का भविष्य तय करेगी। उन्होंने कहा कि निश्चित ही झारखण्ड में पार्टी का संगठन मजबूत हुआ है, मगर बड़ी लड़ाई के लिए कार्यकर्ता और मेहनत करे और समूह बड़ा बनाए।
प्रेस को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा नीतीश कुमार के कार्यक्रम में पचास हज़ार लोग जुटेंगे। उन्होंने कहा कि इण्डिया गठबंधन के पार्टनर साथ चुनाव प्रचार करते तो चार राज्यों में चुनाव परिणाम कुछ और होते। नीतीश जी ने सभी को एकजुट किया है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजंसियों की विश्वसनीयता समाप्त हो रही है, ट्रांसपेरेंसी का अभाव है। राम मंदिर निर्माण के सवाल पर कहा जिसे जब इक्षा होगी लोग जाएँगे, कोई पूर्णिमा में जाएगा कोई एकादशी में जाएगा। २२ जनवरी को जाना कोई ज़रूरी नहीं। उन्होंने कहा कुछ लोग राम मंदिर का रजनीतिकरण कर रहे।

This post has already been read 769 times!

Sharing this

Related posts