राज्यपाल ने उत्कृष्ट विधायक, कर्मियों सहित अन्य को किया सम्मानित

दलगत भावना से ऊपर उठकर काम करना होगा : राज्यपाल

रांची। झारखंड विधानसभा के 23वें स्थापना दिवस समारोह में बुधवार को इस साल के सर्वश्रेष्ठ विधायक रामचंद्र सिंह को बिरसा मुंडा उत्कृष्ट विधायक के सम्मान से सम्मानित किया गया। साथ ही विधानसभा के उत्कृष्ट कर्मियों संयुक्त सचिव मिथलेश कुमार मिश्र, अवर सचिव विष्णु पासवान, प्रशाखा पदाधिकारी निलेश कुमार सिंह व नियाज अहमद, वरीय सचिवालय सहायक तापस कुमार यादव और अनुसेवक माइकल लकड़ा को भी सम्मानित किया गया।

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने सभी को प्रशस्ति पत्र, शॉल तथा मोमेंटो देकर सम्मानित किया। उत्कृष्ट विधायक को 51 हजार रुपये और प्रत्येक चयनित पदाधिकारी एवं कर्मी को 21 हजार रुपये की सम्मान राशि दी गयी। इस मौके पर स्पीकर रविंद्रनाथ महतो ने अपील की कि हम सब पक्ष और विपक्ष के लोग अपने अंतर्विरोधों को भूलकर देश और राज्य को विकसित करने का संकल्प लें।

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने सबसे पहले झारखंड के गठन के लिए पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि झारखंड के मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष दोनों युवा शक्ति के प्रतीक हैं। दोनों काफी ऊर्जावान हैं और दोनों बेहतर कार्य करेंगे। राज्यपाल ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था व्यक्तिगत लाभ के लिए नहीं है। हमें लोगों की भलाई के लिए सोचना है। झारखंड विधानसभा को देश के अन्य विधानसभाओं से श्रेष्ठ बनने के लिए हमें दलगत भावना से ऊपर उठकर काम करना होगा।

उन्होंने कहा कि मैंने भी उस वक्त लोकसभा के सदस्य के रूप में मतदान किया था और मुझे इस बात का गर्व है। झारखंड विधानसभा का गौरवशाली इतिहास रहा है झारखंड विधानसभा के द्वारा हर वर्ष अपने स्थापना दिवस के तौर पर यह कार्यक्रम आयोजित किया जाता रहा है। पहले यह सभा एचईसी भवन से संचालित होता था। अब झारखंड का अपना विधानसभा भवन है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ से इस मंदिर का उद्घाटन हुआ है। मैं इसके लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं।

उन्होंने कहा कि सदन में हम सभी को अपनी-अपनी ड्यूटी निभानी चाहिए। एक सोच के साथ सिर्फ विकास पर हमें फोकस रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव को हम नजरअंदाज नहीं कर सकते। यह लोकतंत्र का एक हिस्सा है। यह बहुत खुशी की बात है कि हमारे झारखंड के मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष दोनों युवा शक्ति के प्रतीक है। दोनों बहुत ही ऊर्जावान हैं। दोनों अपने-अपने युवा शक्ति के साथ बेहतर काम करेंगे ऐसी ही हमारी कामना है। उन्होंने कहा कि हमारा राज्य प्राकृतिक संपदाओं से परिपूर्ण है और इससे विकास की अभूतपूर्व संभावना पैदा होती है। हमें राज्य की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए सभी को संवेदनशील और सक्रिय होना होगा, ताकि विकास का लाभ सभी तक पहुंचे।

This post has already been read 2740 times!

Sharing this

Related posts