रांची पुलिस 22 जनवरी को लेकर अलर्ट, संवेदनशील इलाकों पर पैनी नजर, 1500 से ज्यादा फोर्स तैनात

रांची। राजधानी रांची में रामोत्सव को लेकर पुलिस अलर्ट है। जगह-जगह पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। साथ ही संवेदनशील स्थानों में पुलिस की खास नजर है। सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए पुलिस की खास टीम बनाई गई है। उत्सव के माहौल में कोई खलल ना पड़े और समाज में तनाव ना फैल सके इसे लेकर रांची पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। राजधानी के वैसे इलाके जहां पूर्व में सांप्रदायिक तनाव के मामले सामने आ चुके हैं वैसे इलाकों में विशेष निगरानी रखी जा है।
अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर रांची पुलिस अलर्ट मोड में है। राजधानी के 50 से अधिक मंदिरों में विशेष पूजन का कार्यक्रम तय है। कई जगह बड़ा उत्सव मनाया जा रहा है। ऐसे में सुरक्षा के मद्देनजर जिलेभर में डेढ़ हजार से ज्यादा फोर्स की तैनाती की गई है। फोर्स की तैनाती 21 से 23 जनवरी तक की गई है।
इस संबंध में रांची के सीनियर एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिला पुलिस के अलावा रैफ, जैप और आईआरबी जवानों की भी तैनाती की गई है। खास तौर पर अति संवेदनशील इलाकों में सबसे ज्यादा फोर्स तैनात रहेंगे। अति संवेदनशील इलाकों में फोर्स के अलावा अग्निशमन दस्ता, वाटर कैनन के अलावा वज्र वाहन को भी तैनात किया गया है। सुरक्षा की मॉनिटरिंग वे खुद कर रहे हैं।
एसएसपी ने बताया कि सुरक्षा में डीएसपी के अलावा सभी इंस्पेक्टर और थाना प्रभारी को अलग से लगाया गया है। शहर का माहौल बिगाड़ने वालों के साथ पुलिस सख्ती से निपटेगी। शहरभर के थानेदारों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र में गश्ती करें। कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह से सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। एसएसपी ने थानेदारों को यह भी निर्देश दिया है कि वे लगातार अपने-अपने क्षेत्र में एंटी क्राइम चेकिंग अभियान चलाएं।
उल्लेखनीय है कि एक सप्ताह पूर्व ही राजधानी के चौक-चौराहों पर लगे सभी सीसीटीवी को दुरुस्त कर लिया गया है। पुलिस कंट्रोल रूम में पुलिसकर्मियों को सीसीटीवी के जरिए शहर में निगरानी रखने के लिए तैनात किया गया है। रांची में कार्यक्रमों की निगरानी ड्रोन कैमरे से होगी। रांची पुलिस की एक टीम सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखे हुए हैं। साइबर सेल को भी सोशल मीडिया पर नजर रखने की हिदायत दी गई है।

This post has already been read 1985 times!

Sharing this

Related posts