रांची के 7 वर्षीय विवान शौर्या ने पेंटिंग में जीता अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

जवाहर विद्या मंदिर श्यामली के दूसरी कक्षा के 7 वर्षीय प्रतिभावान छात्र विवान शौर्या ने अंतरास्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है | इन्होने इस उम्र में विश्व की प्रतिष्ठित चित्रकला प्रतियोगिता “पिकासो आर्ट कांटेस्ट” के ” क्रिएटिव ब्रिलियंस 2023″ में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए स्टार आर्टिस्ट अवार्ड प्राप्त किया है | ये प्रतियोगिता 2014 से प्रतेक वर्ष आयोजित की जा रही है | इस वर्ष प्रतियोगिता में 36 देशों से 1200 से अधिक प्रतिभागीओं ने भाग लिया था जिसमे अमेरिका, मलेशिया, कोरिया, इटली, हांगकांग, कनाडा, तुर्की, ऑस्ट्रिया, वियतनाम, रोमानिया, बुल्गारिया, सायप्रस, संयुक्त अरब अमीरात, ईरान, श्रीलंका, बांग्लादेश एवं अन्य देश शामिल हैं | जिसमे 6 से 10 वर्ष वाले ग्रुप में 7 वर्षीय विवान ने इस प्रतियोगिता में अपने देश और राज्य का गौरव बढ़ाते हुए ये पुरस्कार प्राप्त किया है | विवान को 100 में से 92 अंक प्राप्त हुए हैं जिसके लिए इन्हें स्टार आर्टिस्ट सर्टिफिकेट ऑफ़ अचीवमेंट प्रदान किया गया |

इस प्रतियोगिता में हेल्वान विश्वविद्यालय, मिस्र से वरिष्ठ चित्रकार एवं शिक्षाविद डॉ हसना अबू एमिश, जर्मनी से वरिष्ठ चित्रकार बिलजाना बकालुका और भारत से वरिष्ठ चित्रकार राखी के. निर्णायक की भूमिका में थें | प्रतियोगिता के सारे मापदंडों पर जिसमे नवाचार, रचनात्मकता, आकर्षक, पूर्णता, कलाकार की आयु, प्रस्तुति और कलात्मक क्षमता के आधार पर चुनाव किया जाता है इस प्रतियोगिता में विवान ने मंडला आर्ट बनाई थी जिसमे रेखा और विभिन्न आकारों का इस्तेमाल कर कृष्णा जी पे आधारित एक अमूर्त पेंटिंग बनाई थी | इस अवसर पर विवान के विद्यालय के प्राचार्य श्री समरजीत जाना एवं सभी शिक्षकों ने भी बधाई दिया |

इससे पूर्व जून 2022 में विवान ने सबसे कम उम्र में 129 पेंटिंग्स बनाने के लिए अपना नाम इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में दर्ज कराया था | | विवान के गुरु और पिता धनंजय कुमार खुद भी प्रख्यात चित्रकार हैं और कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स के संथापक है | उन्होंने बताया की विवान ने 2 वर्ष की छोटी उम्र से ही पेंटिंग बनाना शुरू कर दिया था और छोटे से ही अपने पिता के मार्गदर्शन में चित्रकारी के गुर सीख रहा था | लॉक डाउन के समय का सदुपयोग कर विवान ने पेंटिंग्स बनाना शुरू किया और लगभग 150 से अधिक पेंटिंग्स बनाई | इस दौरान विवान ने 50 से अधिक अन्तराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, राज्य और जिलास्तर के पुरस्कार भी प्राप्त किये | विवान की माता रजनी कुमारी ने बताया की विवान पेंटिंग के अलावा एक्टिंग, रोल प्ले, कहानी वचन, भाषण, कविता वचन और पियानो में भी अपनी प्रतिभा से बड़े बड़े मंच पर प्रदर्शित कर पुरस्कार प्राप्त किये हैं | विवान का एक Youtube पे चैनल भी है https://www.youtube.com/VIVAANSHOURYA , जहाँ इनके कई वीडियोस है जिसमे ये धारा प्रवाह स्वामी विवेकानंदा के रूप में शिकागो स्पीच दे रहे हैं| वहीँ श्री कृष्णा, महादेव, श्री राम, गौतम बुद्धा, महात्मा गाँधी , सुभाष चन्द्र बोस, शिवाजी, के रूप में उनके अनमोल वचनों को बता रहे हैं |

This post has already been read 1761 times!

Sharing this

Related posts