मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने किया लोकसभा निर्वाचन-2024 से संबंधित विविध मतदाता जागरूकता सामग्रियों का लोकार्पण

Ranchi: इस बार राज्य में दिन भर मतदान की व्यवस्था की गई है। मतदान की अवधि पूर्वाह्न 7.00 बजे से अपराह्न 5.00 बजे तक है। जो भी मतदाता अपराह्न 5.00 बजे से पहले अपने मतदान केन्द्र पर पंक्तिबद्ध रहेंगे वे अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। मतदाताओं का एक बड़ा वर्ग जो आवश्यक सेवाओं से जुड़े हैं तथा मतदान के दिन अपने कर्तव्य पर रहते हैं वैसे मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट के माध्यम से उनके मताधिकार के प्रयोग की व्यवस्था की गई है। वैसी सेवाओं को ‘आवश्यक सेवा’ के रूप में अधिसूचित किया गया है। उक्त बातें मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने निर्वाचन सदन सभागार से लोकसभा निर्वाचन के विविध जागरूकता सामग्रियों के लोकार्पण कार्यक्रम में मीडिया प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग एवं 85 वर्ष से अधिक वैसे मतदाता जो मतदान केंद्र जाने में सक्षम नहीं हैं वैसे मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट के जरिये होम वोटिंग की भी व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कोई भी मतदाता छूटे नहीं इस ध्येय से निर्वाचन आयोग कार्य कर रहा है। झारखण्ड के हर वर्ग तक निर्वाचन की अहमियत पहुँचे, लोग जागरूक बनें और मतदान में बढ़ चढ़कर भाग लें इसके लिए जागरूकता सामग्रियों का लोकार्पण किया जा रहा है।
इस अवसर पर क्षेत्रीय कलाकारों द्वारा मतदाता जागरूकता के निमित्त बनाई गई लघु फ़िल्म उड़ चली को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा रिलीज किया गया। जिसका निर्देशन झारखण्ड के सैकत चटर्जी द्वारा किया गया है। इस फ़िल्म के माध्यम से लोगों के बीच निर्वाचन और एक-एक वोट के महत्व को बताया गया है। साथ ही परिवार गढ़ने से पहले देश गढ़ने की बात कही गयी है। इस फ़िल्म में निर्वाचन को उत्सव की भांति मनाने एवं पूरे परिवार के साथ मतदान में भाग लेने जैसी बातों पर बल दिया गया है।
भारत निर्वाचन आयोग का इस लोक सभा निर्वाचन का नारा है “चुनाव का पर्व, देश का गर्व” इस नारे को झारखण्ड की 8 भाषाओं, यथा, नागपुरी, कुडुख, हो, खड़िया, कुड़माली, खोरठा, मुंडारी एवं संताली में रूपांतरित कर पोस्टर बैनर के माध्यम से संबंधी भाषाई क्षेत्र के लोगों के बीच प्रसारित किया जाना है जिससे उन क्षेत्रीय भाषाओं वाले मतदाताओं तक भी भारत निर्वाचन आयोग का यह संदेश पहुँच सके।
स्तानीय कलाकारों द्वारा निर्मित नागपुरी भाषा के वीडियो सॉन्ग “चुनाव कर परब, देस कर गरब” को भी रिलीज किया गया। यह गीत किसान, बुजुर्ग, युवा, दिव्यांग हर वर्ग के लोगों को निर्वाचन के महत्व को बताते हुए इसमें उत्साहित होकर भाग लेने के लिए प्रेरित करता है।
इस अवसर पर निर्वाचन हेतु जागरूकता के लिए उड़ चली लघु फ़िल्म के एक गीत को लिया गया है। जिसमे सभी वर्ग के मतदाताओं को अपने पूरे परिवार के साथ मिलकर मतदान करने के संदेश को बताया गया है साथ ही इस बार दिन भर मतदान सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक के निर्वाचन के संदेश को जन-जन तक पहुंचाता है।
जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा आड्रे हॉउस में आयोजित कला महोत्सव में कलाकारों द्वारा बनाये गए कलाकृतियों का फोटोग्राप्श कॉफी टेबल बुक के रूप में बनाया गया है। जिसका विमोचन किया गया।
झारखण्ड में इस बार सुबह 7 बजे से साम 5 बजे तक मतदात अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। इस बात को जन जन तक पहुंचाने के धेय्य से मुख्य निर्वाचन कार्यालय द्वारा “इस बार दिन भर मतदान, सुबह सात से शाम पाँच बजे शाम” नारे का भी लोकार्पण हुआ।
आई -भाई के जरिये लोगों को चुनाव से जुड़ी सभी प्रक्रियाओं का विस्तृत जानकारी देने वाले वीडियो सीरीज में 85 वर्ष से अधिक के अथवा 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग जन जो मतदान केंद्र आने में असक्षम हैं उनके लिए घर से ही मतदान किस प्रकार करना है इसके बारे में बताया गया साथ ही मीडिया के प्रतिनिधि जो मतदान के दिन अपने कर्तव्य पर रहेंगें वे किस प्रकार पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल करें इसकी भी जानकारी दी गयी।
लोकार्पण कार्यक्रम का संचालन सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी-सह-स्वीप के प्रभारी पदाधिकारी देव दास दत्ता ने किया।
इस अवसर पर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. नेहा अरोड़ा, ओ एस डी गीता चौबे, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुबोध कुमार, उप निदेशक जन-सम्पर्क आनंद, उप निर्वाचन पदाधिकारी मुख्यालय संजय कुमार, उड़ चली लघु फ़िल्म के निर्देशक सैकत चटर्जी, नागपुरी गीत के गीतकार एवं गायक सुनील कुमार एवं उनकी पूरी टीम उपस्थित रही।

This post has already been read 869 times!

Sharing this

Related posts