मुक्केबाजी : भारत ने 70वीं स्ट्रांजा मेमोरियल चैम्पियनशिप में सुरक्षित किए 5 पदक

नई दिल्ली। एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अमित पंघल ने यूक्रेन के नजर कुरोचिन को एक करीबी मुकाबले में 3-2 से हराकर बुल्गारिया की राजधानी सोफिया में जारी 70 वीं स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचकर रविवार को अपना पदक पक्का कर लिया। भारतीय महिला मुक्केबाजों ने भी तीसरे तीसरे दिन की समाप्ति पर चार पदक पक्के कर लिए। विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप-2018 की कांस्य पदक विजेता लवलिना बोरगोहेन ने ब्राजील की सोएरेज ब्रिट्ज को 5-0 से हराया। लवलिना की इस जीत ने महिला वर्ग में भारत के लिए पहला पदक सुनिश्वित किया। ब्राजील की मुक्केबाज के पास लवलिना के हमलों का कोई जवाब नहीं था और लवलिना सेमीफाइनल में पहुंच गई। युवा मुक्केबाजों के बाद 48 किलोग्राम में मौजदा राष्ट्रीय चैम्पियन मंजू रानी ने भी इटली की बोनाटी रोबर्टा को 5-0 से मात देकर अंतिम चार में कदम रख दिया। पूर्व विश्व जूनियर चैम्पियन निखत जरीन ने 51 किग्रा में बेलारूस की बरयम याना को 5-0 से पराजित कर भारत के लिए एक और पदक पक्का कर दिया। महिला वर्ग में दिन के आखिरी मुकाबले में नीरज ने अमेरिका की एमेलिया मूरे को 5-0 से मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया और भारत के लिए पांचवां पदक सुनिश्चित किया। 2016 में विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाली सोनिया लाथर को 57 किग्रा में अमेरिका की रामीरेज यारिसेल से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले दिन के पुरुष वर्ग के मुकाबलों में राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता गौरव सोलंकी (52 किग्रा) और राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता नमन तंवर (91 किग्रा) भी अपने-अपने मुकाबले जीतने में सफल रहे। सोलंकी ने कजाकिस्तान के अनवर मुजापारोव को 3-2 से हराकर अंतिम आठ में कदम रखा, जहां अब उनका सामना उज्बेकिस्तान के खुदोयनजर फैजोव से होगा। फैजोव ने बुल्गारिया के टिंको बानाबाकोव को 3-2 से मात दी। 22 वर्षीय सोलंकी पिछले साल इंडिया ओपन में स्वर्ण और 2018 में स्ट्रांजा मेमोरियल में रजत पदक जीत चुके हैं। वह इस बार अपने पदक का रंग बदलना चाहेंगे। नमन तंवर ने पोलैंड के माइकल सोजिन्स्की के खिलाफ 5-0 की आसान जीत दर्ज की। अगले दौर में उनका सामना यूक्रेन के सेरही होर्सकोव से होगा, जिन्होंने प्री क्वार्टर फाइनल में सर्बिया के डार्को स्टेनकोविच को 5-0 से हराया। चैम्पियनशिप में 40 से अधिक देशों के 19 से 40 आयु वर्ग के करीब 300 मुक्केबाज भाग ले रहे हैं।

This post has already been read 5491 times!

Sharing this

Related posts