माहे रमजान के अलविदा जुम्मे में चकला के जामा मस्जिद में उमड़ी नमाजियों की भीड़

ओरमांझी: रमजान के पवित्र माहे रमज़ान की आखरी जुम्मा यानी अलविदा जुम्मा पर चकला एवं अगल-बगल के गांव के मस्जिदों में नमाजियों की भीड़ देखी गई। जामा मस्जिद में इमाम मौलाना सनाउल्लाह सहाब द्वारा अलविदा जुम्मा की नमाज अदा की गई। तपती धूप और गर्मी के बीज नमाजियों और रोजेदारों के उत्साह में कोई कमी नहीं दिखी।
वहीं छोटे-छोटे बच्चों में भी नमाज पढ़ने को लेकर काफी उत्साह देखा गया। इस दौरान रोजेदारों ने अदब एहतेराम के साथ अलविदा जुम्मे की नमाज अदा की। अपने तकरीर में मौलाना सनाउल्लाह ने रमजान के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि रमजान का पाक महीना है इस माह में सदका जकात खैरात फिरता बढ़ चढ़ कर देना चाहिए। इस महीना मे सभी कामों में नेकियां बढ़ा दी जाती है।
ओरमांझी अंजुमन के सेक्रेटरी जनाब मुंतजिर अहमद रजा ने बताया कि अलविदा जुम्मे में पूरे मुल्क के लिए अमन जैन खुशहाली के लिए दुआ मांगी गई। आखिरी जुम्मा के दिन अल्लाह से खास दुआ मांगी गई आने वाला रमजान हम सबको नसीब हो।

This post has already been read 897 times!

Sharing this

Related posts