महिलाओं को आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बनाना राज्य सरकार की प्राथमिकता: हफीजुल हसन

Ranchi: आज 75वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह स्थल केकेएन स्टेडियम में माननीय मंत्री अल्पसंख्यक कल्याण, पर्यटन, कला संस्कृति, खेल एवं युवा कार्य तथा निबंधन विभाग, झारखण्ड सरकार श्री हफीजुल हसन द्वारा झण्डोतोलन किया गया। इस दौरान माननीय मंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि 26 जनवरी गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रतीक है यह वो दिन है जब से हमारा अपना संविधान लागू हुआ और पूरी आजादी मिली। साथियों संविधान ही हमें एक सूत्र में बांध रखता है। इसलिए यह दिन हमारे लिए बेहद खास है। 26 जनवरी 1950 से भारत एक संवैधानिक राष्ट्र बन गया। यह दुनियाँ के अन्य देशों की बराबरी पर आकर खड़ा हो गया, जो अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है और दूसरे देशों की दखलदाजी से दूर है। इसी दिन डा० राजेन्द्र प्रसाद हमारे देश के संवैधानिक प्रमुख अर्थात् राष्ट्रपति बने और हमारा देश पूर्ण गणतंत्र बना। गणतंत्र दिवस के अवसर पर संविधान निर्माता बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर सहित सभी अन्य महान विद्वानों, नेताओं एवं स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए अमर बलिदानियों समेत सभी जननायकों को करोड़ों बार नमन् एवं विनम्र श्रद्धांजलि।

इसके अलावे माननीय मंत्री अल्पसंख्यक कल्याण, पर्यटन, कला संस्कृति, खेल एवं युवा कार्य तथा निबंधन विभाग, झारखण्ड सरकार श्री हफीजुल हसन ने देवघर जिला में अबतक हुए विकास कार्यों की उपलब्धियाँ को बताते हुए कहा कि शिक्षा विभाग अंतर्गत 03 उत्कृष्ठ विद्यालय संचालित है। वर्ष 2023-24 में कुल 124 (आईजीटी) शिक्षकों एवं 24 प्रयोगशाला सहायकों की नियुक्ति की गई है। 11784 सामान्य विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान किया गया तथा कक्षा 8 के 3587 विद्यार्थियों को साईकिल वितरण, 213957 विद्यार्थियों को निःशुल्क पोशक एवं 226158 विद्यार्थियों को स्कूल बैग का वितरण किया गया। इसके अलावे आपदा प्रबंधन प्राधिकार-अंतर्गत 2023-24 में कुल 1121 लाभुकों को 64.85 लाख रूपये की सहायता की गई। साथ ही स्वास्थ्य विभाग राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत अनुबंध पर 155 व्यक्तियों की नियुक्ति की गई। देवघर जिला में 42 भवनविहीन स्वास्थ्य उपकेन्द्र निर्माण एवं 09 स्वास्थ्य उपकेन्द्र स्वीकृत है जिसमें 05 स्वास्थ्य उपकेन्द्र निर्माण कार्य कर लिया गया है। वहीं कृषि विभाग द्वारा 2700 नये किसान क्रेडित कार्ड बैंक द्वारा वितरण किया गया है। एनएफएम पल्स 30 योजना अंतर्गत 30 पम्पसेट, 7 रोटवेटर, 75 पावर बैट्री स्प्रेयर तथा 97 मेनुवल स्प्रेयर 80ः अनुदान पर कृष्कों को वितरण किया गया है। इसके अलावे मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना अंतर्गत 2023-24 में 1000 ग्रामीण महिलाओं को दो दुधारू गाय एवं 215 पशुपालकों को मिनी डायरी (05 गाय) मिडी डेयरी को 10 गाय के माध्यम से स्वनियोजित किया गया। 2581 किसानों को प्रशिक्षण किया गया है एवं सारठ प्रखण्ड में 50 हजार लीटर प्रति दिन हस्तांतरण क्षमता का मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट स्थापित किया गया है।

साथ ही कल्याण विभाग द्वारा प्री-मैट्रिक एवं पोस्टमैट्रिक छात्रवृति योजना के तहत लगभग 86000 छात्र/छात्राओं को छात्रवृति का भुगतान किया गया। एस एस ओबीसी के 13299 छात्र/छात्राओं के बीच कुल 163083202 (सोलह करोड़ वीस लाख तिरासी हजार दो सौ दो रूपये) बैंक खाता में भेजा गया। मुख्यमंत्री सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना में 30078 लाभुकों के बीच 1578.50 लाख मुख्यमंत्री कन्यादान, 397 लाभुको को 119.10 लाख का भुगतान एवं 135 दिव्यांगों को दिव्यांग यंत्र बाँट्रा गया। सर्वजन पेंशन में 183989 लाभुकों को पेंशन का भुगतान किया जा रहा है। इसके अलावे झारखण्ड खाद्य सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत देवघर जिले में कुल 221533 च्भ्भ् कार्डधारी परिवार को निःशुल्क आनाज दिया जा रहा है। सोना-सोबरन धोती-साड़ी योजना के तहत प्रति राशन कार्डधारी को 01 साड़ी एवं 01 घोती/लुंगी उपलब्ध कराया जाता है। साथ ही मनरेगा अंतर्गत देवघर जिले में 2023-24 के दौरान निर्धारित मानव दिवस सृजन के विरूद्ध 115ः की उपलब्धि प्राप्त करते हुए 54.95 लाख मानव दिवस का सृजन किया जाता है। 23182 परिसम्पतियों का निर्माण किया जा चुका है। कुल 193.35 करोड़ का व्यय किया गया है। साथ ही अबुआ आवास योजना में कुल 166275 आवेदन प्राप्त हुए है। राज्य सरकार द्वारा कुल 9847 लक्ष्य जिला को निर्धारित किया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6632 आवास का निर्माण कराया गया साथ ही 50 बिरसा मुण्डा आवास की स्वीकृति प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत 841 लाभुकों को 79030000 (सात करोड़ नब्बे लाख तीस हजार रूपये) का ऋण वितरण किया गया है। श्रम नियोजन प्रशिक्षण विभाग से 1000 युवक/युवतियों को रोजगार एवं सोफ्ट स्कील ट्रेनिग कराया गया है। जे०एस०एल०पी०एस० के तहत 194 पंचायतों में कुल 135948 गरीब परिवारों की महिलाओं को लाभ मिल रहा है।
इसके अलावे पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के द्वारा देवघर जिला हुए कार्यों की विवरणी। देवघर जिला में कुल 60 योजनाएँ संचालित है, जिसमें प्रमुख रूप से टीकोपहाड़ी बुद्ध पहाड़ एंव पाथरोल काली मंदिर का सौन्दर्याकरण, तपोवन पहाड़ सिढ़ी पर स्टील रेलिंग, त्रिकुट पहाड़ पर प्रकाश व्यवस्था योजना शामिल है। 70 लाख रूपये की लागत से नन्दन पहाड़ के पास जलक्रीड़ा की व्यवस्था की जा रही है। 37वाँ राष्ट्रीय खेल लॉन बॉल में छोटी कुमारी को गोल्ड मेडल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साथ ही मधुपुर विधान सभा क्षेत्र के सभी प्रखण्डों में स्टेडियम निर्माण किया जाएगा। इसके अलावे मधुपुर में बहुउद्देशीय उच्च स्तरीय स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा। सिकटिया एवं पुनासी बराज में पर्यटकीय सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। तपोवन में विभिन्न पर्यटकीय सुविधाओं का विकास। पथरौल बंदर चौक का सौन्दर्याकरण एवं लाईट का कार्य। त्रिकुट पहाड़ तक पहुँच पथ का साधारण जीर्णाेद्धार कार्य। नंदन पहाड़ स्थित शिल्प ग्राम में अवस्थित मार्केट कॉम्पलेक्स एवं शिल्प ग्राम के मुख्य द्वार के रंग रोगन का कार्य। सार्वजनिक स्थलों-जलसार पार्क/साहेब पोखर/देवघर परिसदन में जीम का अधिष्ठापन। करी प्रखण्ड अंतर्गत मी काली मंदिर-पथरौल का सौन्दर्गीकरण, प्रकाश व्यवस्था एवं अन्य कार्य।त्रिकुट पहाड़ पर प्रकाश व्यवस्था एवं बहुद्देशीय शेड का निर्माण कार्य। मधुपुर प्रखण्ड अंतर्गत बुढ़ई पहाड़ मंदिर में प्रकाश व्यवस्था, सौन्दयीकरण का कार्य। मारगोमुण्डा प्रखण्ड अंतर्गत टिको पहाड़ी में पी०सी०सी० पथ निर्माण एवं सौन्दर्याकरण का कार्य। मधुपुर प्रखण्ड अंतर्गत बकुलिया झरना के पास छतरीदार शेड का निर्माण कार्य। करों प्रखण्ड अंतर्गत कर्णाश्वर मंदिर में तोरण द्वार का निर्माण कार्य। देवघर प्राखण्ड स्थित जलवे पर्वत का पर्यटन विकास। करों प्रखण्ड स्थित कर्णेश्वर मंदिर, नायक मंदिर एवं पथरौल काली मंदिर का पर्यटकीय विकास। मधुपुर प्रखण्ड स्थित बकुलिया वाटर फॉल में शेड एवं शौचालय का निर्माण।बुद्धा पहाड़ पर विभिन्न पर्यटकीय विकास कार्य। मधुपुर प्रखण्ड अंतर्गत कजरा शिव मंदिर का भ्रमण विकास कार्य। बुढ़ई में लक्षमण झूला (हॅगिंग ब्रीज) का प्रस्ताव है। इसके अतिरिक्त अन्य दार्शनिक स्थल यथा बुद्धा पहाड़, पनाह कोला मजार, लालगढ़ मजार, गोसुआ मंदिर, जामा शिव मंदिर, सारत मजार, फागो मंदिर, बभन गामा दुबे मंदिर, लालगढ़ मजार के निकट तालाब घाट, कजरा शिव मंदिर, पिपरा सोल दुबे मंदिर, नावाडीह-भेड़वा मजार, संघरा मजार, लखना मोहल्ला कर्बला, धर्मराज मंदिर के पर्यटकीय विकास की स्वीकृति झारखण्ड सरकार द्वारा प्रदान की गयी है। साथ ही पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा जल जीवन मिशन अंतर्गत 69343 घरों में पानी पहुँचाय गया है। 107036 घरेलु व्यक्तिगत शौचालय निर्माण कराया गया है। भूमि संरक्षण सर्वेक्षण विभाग 43 तालाब का जीर्णाेद्धार एवं 134 तालाब का निर्माण करया जा रहा है। 179 परकोलेशन टैंक निर्माण करया जा रहा है। 28.28 करोड़ की लागत से 749 योजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चूका है। डी०एम०एफ०टी०, पी०एम०के०के०के०वाई० के तहत चितरा कोल माईन्स खनन प्रभावित क्षेत्र में 2026 योजनाओं की स्वीकृति के विरूद्ध 405 योजनाओं का कार्य पूर्ण कराया गया। शेष योजनाओं का कार्य जारी है। जिला पुलिस प्रशासन, देवघर का अपराध नियंत्रण में हमेशा से उल्लेखनीय योगदान रहा है। पूरे देश के कई अनसुलझे साईबर अपराध का उद्भेदन किया गया। साईबर अपराध नियंत्रण मामले में देवधर जिला राष्ट्र में सर्वाेपरि रहा है।
पुनः एक बार आप सबों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

इस दौरान उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्री विशाल सागर, पुलिस अधीक्षक श्री अजीत पीटर डुंगडूग, उप विकास आयुक्त डॉ0 कुमार ताराचन्द, जिला बीस सूत्री उपाध्यक्ष श्री मुन्नम संजय, विधायक प्रतिनिधि श्री संजय शर्मा, अपर समाहर्ता श्री चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी श्री दीपांकर चौधरी, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी श्री पवन कुमार पांडे, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, गोपनीय प्रभारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता पथ प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता राष्ट्रीय उच्च पथ प्रमंडल, सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, समाजसेवी व कर्मी आदि उपस्थित थे

This post has already been read 4037 times!

Sharing this

Related posts