मरांडी ने नीति के साथ नैतिकता से भी समझौता कर लिया है: अमाल खान 

रांची: कांग्रेस के युवा नेता अमाल खान के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी करके गत दिनों सरायकेला में संकल्प यात्रा के दौरान संबोधन में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी के द्वारा दिए गए बयान को अनगर्ल  बताया।  बाबूलाल मरांडी ने इंडिया गठबंधन सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि केंद्र के द्वारा भेजे जा रहे  राशन को हेमंत सरकार खा जा रही है। कुछ वर्ष पूर्व तक भाजपा में जाने के बजाय कुतुबमीनार के कूदना पसंद करने वाले मरांडी ने नीति के साथ नैतिकता से भी समझौता कर लिया है।निराधार आरोप लगाने के बजाय इस तत्व को स्वीकारने की हिम्मत उनमें नहीं है। कि गत दिसंबर से ही गरीबों के राशन को आधा कर दिया है, क्योंकि अपने पूंजीपति मित्रों के 11 लाख करोड़ ऋण माफ करने वाली केंद्र सरकार को गरीब व्यक्ति “वित्तीय बोझ” प्रतीत होता है। जिस व्यक्ति को 5 रुपए में 10 किलो राशन दिया जा रहा था। उसे “मुफ्त” का छलावा देकर सिर्फ 5 किलो राशन देने का फैसला नरेंद्र मोदी जी का ही है।मोदी जी की तरह बाबूलाल मरांडी जी की विश्वसनीयता खत्म हो चुकी है। झूठ बोलकर इनके सत्ता हासिल करके भारतीय जनता पार्टी के लोग सिर्फ झारखंड के खनिज और वनों को अपने उद्योगपति मित्रों को उपहार में देना चाहते हैं। किंतु झारखंड की जनता इस बात को समझ चुकी है। राहुल गांधी जी के निर्देश पर जल्द ही जातीय जनगणना के बाद झारखंड में भी आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी देकर वंचितों, दलितों का कल्याण करना झारखंड सरकार की महत्वाकांक्षा में शुमार है।

This post has already been read 1505 times!

Sharing this

Related posts