मंत्री ने माउंट किलिमंजारो चोटी पर तिरंगा लहराने को अंकित कुमार को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

देहरादून। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने रविवार को कैंप कार्यालय में साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो पर उत्तराखंड के अंकित कुमार भारती काे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। अंकित कुमार भारती साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी जिसकी ऊंचाई 5895 मीटर है , उस पर तिरंगा लहराने के लिए बहुत ही उत्साहित हैं।

मंत्री जोशी ने अंकित कुमार को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उनकाे शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड से सम्मानित दिवंगत पर्वतारोही सविता कंसवाल को श्रद्धांजलि देने के उद्देश्य से यह अभियान माउंंटेनियर अंकित कुमार ने प्रारंभ किया है। मंत्री ने कहा कि अंकित के पैर में रॉड डली होने के बाद भी उन्होंने समर्पित होकर उस किलिमंजारो की चोटी को फतह करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि माउंटेनियर अंकित कुमार युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं।

सन् 2022 में साहसिक खेलों में अंकित कुमार के कूल्हा में स्टील की रॉड डाली गयी। इसके बावजूद भी उन्होंने पर्वतारोहण नहीं छोड़ा है। अंकित ने बताया कि इस अभियान को करने का उद्देश्य उत्तराखंड और भारत के युवाओं को संदेश देना है कि कितनी विपरीत परिस्थितियों हमें हिम्मत नहीं छोड़नी चाहिए और जीवन में असंभव लक्ष्यों को संभव बनाना चाहिए। इस आरोहण के संपन्न होने से इस मेटल रॉड के साथ किलिमंजारो चोटी पर जाने वाला पहला युवा भारतीय बनेगा और वे उत्तराखंड एथलेटिक्स एसोसिएशन के पहले सदस्य होंगे जो इस अभियान को पूरा करेंगे।

इस अवसर पर सचिव उत्तराखण्ड एथलेटिक्स के.जे.एस कलसी, अन्तरराष्ट्रीय कोच गुरफूलसिंह, उपाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह नेगी, सविंद्र सिंह, राष्ट्रीय कोच अवतार सिंह आदि उपस्थित थे।

This post has already been read 545 times!

Sharing this

Related posts