भारत और चीन की तरक्की के लिए दुनिया में पर्याप्त जगह: सिंह

नई दिल्ली। केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारत और चीन के आर्थिक रूप से तरक्की करने के लिए दुनिया में पर्याप्त जगह है और इस बात पर जोर दिया कि सीमा मुद्दा तथा संबंधों की प्रगति को अलग अलग देखा जाना चाहिए। सिंह ने कहा कि भारत चीन संबंधों के लिए पिछला साल महत्वपूर्ण था क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वुहान में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ बिना किसी एजेंडे के अनौपचारिक शिखर बैठक की जिससे दोनों नेताओं के दृष्टिकोंण को एक दूसरे को समझने में मदद मिली। ब्रिगेडियर राजीव भूटानी की पुस्तक सायनो इंडिया इक्वेशन के विमोचन के मौके पर सिंह ने कहा, मुझे पता है कि संकीर्ण सोच के कारण बहुत से लोगों ने इसकी आलोचना की थी। मेरा अनुभव रहा है कि आप जो करना चाहते हैं एजेंडा उसे कमजोर कर देता है। इस शिखर सम्मेलन का उद्देश्य व्यक्तिगत संबंध बेहतर करना और एक दूसरे को समझना था। सिंह ने इस कार्यक्रम में अपनी टिप्पणी में, भारत-चीन संबंधों के दृष्टिकोण की वकालत की, जिसमें सीमा को एक मुद्दा और द्विपक्षीय संबंध को दूसरा मुद्दा माना जाता है। उन्होंने कहा, मैं इसलिए इन दोनों मुद्दों को अलग अलग रखने का प्रयास कर रहा हूं क्योंकि भूमि सीमा विभिन्न कारणों से एक जटिल मुद्दा है।सिंह ने कहा कि भारत और चीन की तरक्की, व्यापार व्यवसाय एवं वाणिज्य को बढाने के लिए दूनिया में पर्याप्त स्थान है।

This post has already been read 6281 times!

Sharing this

Related posts