भगत सिंह की प्रतिमा स्थापित नहीं होने पर राष्ट्रीय युवा शक्ति के अध्यक्ष ने शहादत का किया फैसला

रांची। भगत सिंह के शहादत दिवस पर राष्ट्रीय युवा शक्ति आंदोलन के अध्यक्ष उत्तम यादव ने 23 मार्च को शहादत देने का निर्णय किया है। उन्होंने भगत सिंह के अपमान से दुखी होकर यह फैसला किया है। राष्ट्रीय युवा शक्ति ने शुक्रवार को मोरहाबादी स्थित चिल्ड्रन पार्क में संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी।
राष्ट्रीय युवा शक्ति के संरक्षक जगदीश सिंह जग्गू और योगेश कुमार रॉक ने संयुक्त रूप से कहा कि एक सच्चे देश प्रेमी होने के नाते भगत सिंह को सम्मान नहीं मिलने से उत्तम यादव दुखित हैं और लज्जित होकर इस तरह का कदम उठाने के लिए विवश हैं। लगातार एक वर्ष से संघर्ष करने के बाद भगत सिंह की प्रतिमा के लिए दो गज जमीन भी नहीं मिली। इसके लिए उत्तम 25 फरवरी से राजभवन के समझ लगातार धरने पर बैठे हुए थे लेकिन दो दिन पूर्व जिला प्रशासन ने आचार संहिता का हवाला देकर धरना स्थल से हटा दिया।
उन्होंने कहा कि जो भगत सिंह से प्यार करते हैं उनके लिए हंसते-हंसते शहादत देना कोई बड़ी बात नहीं है। अब उत्तम यादव देशभक्ति का महत्व को बनाए रखने के लिए और देश की जनता को जागृत करने के लिए शहादत देने वाले हैं। राष्ट्रीय युवा शक्ति शहीदे आजम भगत सिंह का प्रतिमा मोरहाबादी में स्थापित किया था, जिसे प्रशासन ने हटा दिया, जो हम नगर वासियों पर एक कलंक है। यदि यह प्रतिमा राजधानी रांची में स्थापित होती है तो यह पूरे रांची के लिए गौरव का विषय है।
संवाददाता सम्मेलन में राष्ट्रीय युवा शक्ति के केंद्रीय उपाध्यक्ष नितेश वर्मा शैलेश तिवारी और अनुराग तिर्की सहित अन्य मौजूद थे।

This post has already been read 929 times!

Sharing this

Related posts