बजट प्रतिक्रिया: गरीब, किसान, श्रमिक, मध्यम वर्ग सबका रखा गया ध्यान: प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि इस बार के बजट में गरीब, किसान, श्रमिक, मध्यम वर्ग सबका ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह बजट सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी और सर्वसमाहित करने वाला है। बजट के बारे में वीडियो संदेश के माध्यम से अपनी प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट में किसान उन्नति से लेकर, कारोबारियों की प्रगति तक, इनकम टैक्स से लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर तक, हाउसिंग से लेकर हेल्थ केयर तक, इकोनॉमी को नई गति से लेकर न्यू इंडिया के निर्माण तक, सबका ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा, ‘ये बजट गरीब को शक्ति देगा, किसान को मजबूती देगा, श्रमिकों को सम्मान देगा, मध्यम वर्ग के सपनों को साकार करेगा, ईमानदार आयकरदाताओं का गौरवगान करेगा, इंफ्रास्ट्रक्टर निर्माण को गति देगा और अर्थव्यवस्था को बल देगा।’ पीएम मोदी ने कहा कि सरकार के प्रयासों से देश में गरीबी रिकॉर्ड गति से कम हो रही है। इस बजट से 3 करोड़ से ज्यादा मध्यम वर्ग के टैक्स देने वालों और 30-40 करोड़ श्रमिकों को सीधा लाभ मिलेगा। देश में बढ़ते मध्यम वर्ग की उम्मीदों को कुछ हौसला मिले। इसके लिए हमारी सरकार ने काफी समय से चली आ रही आयकर छूट को 5 लाख तक करने की मांग स्वीकार की है। वह मध्यम वर्ग को आयकर में मिली छूट के लिए बधाई देते हैं। नरेन्द्र मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान निधि उन किसानों की मदद करेगी, जिनके पास 5 एकड़ से कम भूमि है। यह योजना किसान कल्याण के मार्ग में एक ऐतिहासिक कदम है। हमारा पूरा प्रयास है कि किसानों को सशक्त करके उन्हें वे संसाधन दें, जिनसे वे अपनी आय दोगुनी कर सकेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि श्रम योगी मानव धन योजना मजदूरों के जीवन को मजबूत करेगी। आयुष्मान भारत योजना और सामाजिक सुरक्षा योजनाएं भी उनके जीवन पर गहरा असर डालने वाली हैं। यह बजट गरीब को शक्ति देगा, किसान को मजबूती देगा, अर्थव्यवस्था को नया बल देगा। उन्हें प्रसन्नता है कि अगले दशक के अंत तक आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए ये बजट लाया गया है। उन्होंने कहा कि विकास का पूरा लाभ नहीं ले पाने वाले को सरकार लाभ पहुंचाने के प्रयास कर रही है। इसके अलावा सरकार घूमंतू जातियों की पहचान कर रही है।

This post has already been read 7085 times!

Sharing this

Related posts