प्रो कबड्डी लीग: फाइनल खेलने के लिए गुजरात और यूपी में होड़ (प्रीव्यू)

मुंबई। प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के छठे सीजन में अब तीन टीमें बेंगलुरू बुल्स, यूपी योद्धा और गुजरात फॉर्च्यूनजाएंट्स ही कोर्ट पर बची हैं। इन तीनों में से बेंगलुरू बुल्स फाइनल में अपना स्थान पक्का कर चुकी है जबकि दूसरी टीम का फैसला गुरुवार को यहां यूपी योद्धा और गुजरात फॉर्च्यूनजाएंट्स के बीच होने वाले क्वालीफायर-2 के विजेता से होगा।

गुजरात की टीम पहली बार में फाइनल में स्थान बनाने से चूक गई और उसे रविवार को बेंगलुरू के हाथों क्वालीफायर-1 में 29-41 से हार का सामना करना पड़ा। यूपी ने सोमवार को एलिमिनेटर-3 में दबंग दिल्ली को 45-33 से हराकर क्वालीफायर-2 में प्रवेश किया जहां अब फाइनल में पहुंचने के लिए उसे गुजरात की चुनौती से पार पाना होगा।

क्वालीफायर-1 में कप्तान सुनील कुमार की टीम गुजरात का डिफेंस बेहद कमजोर रहा। टीम के कोच मनप्रीत सिंह ने भी इस बात को माना कि टीम की सबसे बड़ी कमजोरी उसका डिफेंस रहा। कोच ने हार का प्रमुख कारण डिफेंस की कमजोरी को ही माना।

इस मैच में खुद कप्तान भी विफल रहे जिनके खाते में एक भी अंक नहीं आया। सुनील 82 टैकल प्वाइंट के साथ इस सीजन में तीसरे नंबर पर हैं। इसके अलावा रेडर सचिन से भी टीम को काफी उम्मीदें होंगी जिनके खाते में इस सीजन में अब तक 171 अंक हैं।

गुजरात की टीम पिछले सीजन में फाइनल तक पहुंची थी जहां उसे पटना पाइरेट्स से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि तीन बार की चैम्पियन पटना पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है। ऐसे में गुजरात के पास इस बार फाइनल में पहुंचकर खिताब अपने नाम करने का मौका होगा। गुजरात ने ग्रुप-चरण में जोन-ए में 22 मैचों में 17 जीते थे। वह 93 अंकों के साथ अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहा था।

कोच मनप्रीत ने क्वालिफायर-2 मैच को लेकर कहा, हम पिछले तीन महीने में केवल तीन मैच हारे हैं और मुझे नहीं लगता है कि हम वह टीम होंगे जो लगातार दो हार झेलेंगे। हमारे पास अपनी गलतियों में सुधार करने और फाइनल में पहुंचने का एक और मौका है जिसमें हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे।

दूसरी तरफ यूपी की कोशिश पिछले आठ मैचों से चली आ रहे अपने अपराजेय क्रम को जारी रखने की होगी। टीम के स्टार खिलाड़ी प्रशांत कुमार राय और श्रीकांत जाधव इस सीजन में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। दोनों ने अब तक क्रमशः 139 और 134 रेड प्वाइंट अपने नाम किए हैं।

यूपी लीग चरण में दो बार गुजरात से भिड़ी है जिसमें एक बार उसे हार मिली है जबकि एक मैच टाई रहा है। ऐसे में दोनों टीमों के बीच गुरुवार को होने वाला मुकाबला काफी प्रतिस्पर्धात्मक होने की उम्मीद की जा रही है।

टीम के सहायक कोच अर्जुन सिह का मानना है कि टीम रणनीति अब तक कारगर साबित होती आ रही है और हम इसी रणनीति को आगे भी जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, अब तक खिलाड़ियों ने सही से टीम की रणनीतियों को लागू किया है और वे आगे भी इसे जारी रखेंगे।

यूपी की टीम ने जोन-बी में 22 मैचों में आठ मैच जीते थे। वह 57 अंकों के साथ अपने ग्रुप में तीसरे नंबर पर रहा था। टीम के कप्तान ऋषांक देवदिगा का कहना है कि टीम एक समय पर एक ही मैच अपना ध्यान लगाती है।

कप्तान ने कहा, हम एक समय पर एक ही मैच पर ध्यान देते हैं। हम आगे की सोचे बिना दिल्ली के खिलाफ उतरे थे जहां टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। हम इसी रणनीति के साथ आगामी मैच में भी उतरेंगे जिस के लिए टीम मानसिक रूप से पूरी तरह से तैयार है।

This post has already been read 7194 times!

Sharing this

Related posts