प्राकृतिक सौंदर्य के बीच तिरूफाॅल पर्यटन स्थल पिकनीक स्पोर्ट में गिरता जल प्रपात लोगों को अपनी ओर करता है आकर्षित।

  • रांची से 45 किमी दूर बुढ़मू प्रखंड के चौकीटाड़ स्थित तिरूफाॅल।
  • तिरूफाॅल परिसर में अच्छे रेस्टोरेंट एवं नाइट होल्ड की सुविधा नहीं है।

बुढ़मू: नये वर्ष आते ही लोगों को पर्यटन स्थल एवं पिकनीक स्पोर्ट का ख्याल आने लगता है। और परिवार एवं दोस्तों की टोली बनाकर लोग पिकनिक मनाने एवं घुमने के लिए प्लान बनाने लगते हैं। कुछ लोग अपने जिला एवं राज्य से बाहर घुमने का प्लान भी बनाते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग अपने आसपास पिकनीक स्पोर्ट एवं पर्यटन स्थल में ही नव वर्ष पर घुमना पसंद करते हैं। ऐसे में रांची जिला के बुढ़मू प्रखंड क्षेत्र के तिरूफाॅल हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सैलानियों के लिए तैयार है। यहां 350 फ़ीट उपर से झरना निरंतर गिरता रहता है। साथ ही आस पास हरे-भरे वन क्षेत्र से यह परिसर घिरा हुआ है। यहां हरियाली का मनोरम दृश्य देखने लायक है। यहां आने के लिए टू लाइन की अच्छी सड़क है।जो रांची से बुढ़मू होते हुए चौंकी टांड़ पहुंचती है। जहां सड़क किनारे तिरूफाॅल के नाम से यह जल प्रपात है। झरना देखने के लिए सीढ़ियां बनाई गई है। जिससे चलकर गिरते हुए झरना के समीप पहुंचा जा सकता है। यहां के ग्रामीणों के सहयोग से झाड़ियों को साफ सफाई किया गया है। जानकारी के अनुसार रांची से तिरूफाॅल की दूरी लगभग 45 किमी है। यहां पर दूर दराज से आने वालों के लिए एक आवश्यक जानकारी यह भी होनी चाहिए।कि यहां आस पास खाना खाने के लिए अच्छी फैमिली रेस्टोरेंट आदि की व्यवस्था नहीं है। साथ ही नाईट होल्ड की सुविधा भी उपलब्ध नहीं है। इस लिए रात्रि होने से पहले सैलानियों को यहां से दूर व्यवस्थित जगह का चयन कर लेना उचित होगा।

This post has already been read 1345 times!

Sharing this

Related posts