पारंपरिक रीति-रिवाज के साथ मनेगी सरहुल पूजा: रमेश उरांव

ओरमांझी: सरना स्थल मुन्ना पतरा जैविक उद्यान में झारखंड प्रदेश आदिवासी सरना पड़ाह समाज मुन्ना पतरा चकला ओरमांझी की ओर से ओर से प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी नव मनोनीत पड़ाह समाज के अध्यक्ष समुद्र पाहान के अध्यक्षता में आगामी सरहुल पूजा सह सरहुल महोत्सव को धूमधाम से मनाने के लिए महत्वपूर्ण बैठक किया गया। सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी ओरमांझी प्रखंड के विभिन्न गांव में जाकर मुन्ना पतरा में जुलूस आने के लिए सभी को संपर्क स्थापित कर निमंत्रित किया जाएगा। बैठक में झारखंड प्रदेश आदिवासी सरना पड़ाह समाज के मुख्य संरक्षक रमेश उरांव ने कहा कि सरहुल पूजा पारंपरिक, सांस्कृतिक रीति रिवाज एवं धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी 10 अप्रैल को सरहुल पूर्व संध्या, 11 अप्रैल को प्रत्येक घरों सरहुल पूजा एवं सभी सरना स्थलों में सामूहिक रूप से पूजा पाठ किया जाएगा। तथा 13 अप्रैल को सरना स्थल मुन्ना पतरा जैविक उद्यान परिसर में विभिन्न गांव से सरना जुलूस आएंगे। और भव्य रूप से सरहुल महोत्सव बनाया जाएगा। जिसमें खिजरी विधायक राजेश कच्छप व जनप्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।वहीं बैठक में सरहुल पूजा की सफलता को लेकर विचार विमर्श किया गया। इस बैठक में मुख्य संरक्षक रमेश उरांव अध्यक्ष समुद्र पहान, पूर्व अध्यक्ष प्रेमनाथ मुंडा संरक्षक बालक पहान महासचिव नीलमोहन पहान कोषाध्यक्ष अघनु मुंडा, सुनील उरांव ,संजय तिर्की, बलराम बेदिया, गोपाल बेदिया सदमा 22 पड़हा के अध्यक्ष बाबूलाल महली, रमेश चंद्र उरांव अशोक मुंडा, गुड्डी सिंह मुंडा गोपाल उरांव बंधन मुंडा सुखराम पहान मुख्य पहान पुजारी दिल रंजन पहान राजकुमार मुंडा दिगंबर मुंडा सोहराई बेदिया सुलेद्र उरांव विमल उरांव तीर्थ मोहन उरांव एवं अन्य पदाधिकारी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

This post has already been read 545 times!

Sharing this

Related posts