दिल्ली में पत्रकारों की गिरफ्तारी एवं 15 पत्रकारों को बहिष्कृत करने के निर्णय का भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ ने किया विरोध।

रांची।आज रांची मोहराबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ की झारखंड राज्य इकाई झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन द्वारा दिल्ली में पत्रकारों की गिरफ़्तारी के तरीके को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन में शामिल पत्रकारों ने दिल्ली के पत्रकारों के आवास पर अपराधियों की भांति रेड किए जाने को लोकतंत्र की हत्या करार देते हुए इसकी कड़ी निंदा की। प्रदेश अध्यक्ष अमरकांत ने अपने संबोधन में कहा कि हम सभी पत्रकारों के घर पर जिस प्रकार अपराधियों की भांति छापेमारी की गई उसकी कड़ी शब्दों में निंदा करता हूं। स्वामी दिव्यानंद ने अपने संबोधन में कहा कि पत्रकारों की गिरफतरी के साथ साथ 15 पत्रकारों को बहिष्कृत करने का निर्णय भी दुर्भाग्यपूर्ण है जिसका हम सभी विरोध करते हैं। झारखंड जर्नालिस्ट एसोसिएशन के संस्थापक सह भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ के राष्ट्रीय महासचिव शहनवाज़ हसन ने उच्चतम न्यायालय के निर्देष के आलोक में पत्रकारों के साथ अपराधियो की भांति व्यवहार की कड़े शब्दों में आलोचना की है, साथ ही पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग की। शाहनवाज हसन ने दिल्ली के 15 न्यूज चैनल से जुड़े एंकरों को बहिष्कृत करने को भी दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि यह पत्रकारों को बांटने का प्रयास है जिसकी संघ कड़े शब्दों में निंदा करता है। आज के धरना प्रदर्शन में प्रदेश उपाध्यक्ष नवल किशोर सिंह, प्रदेश कोषाध्यक्ष संजीत कुमार, आशीष पांडेय, रंगनाथ मिश्रा, गुलाम शहीद, सैयद रामीज़, अजय पांडेय, मो अमीर सहित बड़ी संख्या में रांची के पत्रकार शामिल हुए।

This post has already been read 3649 times!

Sharing this

Related posts