‘डीएवी हेहल में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,पटना के तत्वावधान में दो-दिवसीय ‘शिक्षक क्षमता संवर्धन कार्यशाला’ का आग़ाज़

आज दिनांक 04.11.2023,दिन शनिवार को डीएवी पब्लिक स्कूल हेहल,राँची के सभागार में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,पटना की ओर से शिक्षकों के लिए दो-दिवसीय कैपेसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम स्ट्रेंथनिंग असेसमेंट एंड इवैल्युएशन प्रैक्टिसेस की शुरुआत वैदिक मंत्रोच्चार एवं दीप प्रज्जवलन कर स्वागत गान से हुई।
सर्वप्रथम विद्यालय के प्राचार्य श्री एस के मिश्रा ने सीबीएसई द्वारा नियुक्त रिसोर्स पर्सन्स श्री मुकुल आईजेक,होली क्रॉस स्कूल,बोकारो व श्री नवारुण सेनगुप्ता,ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल ,राँची का स्वागत सैपलिंग(पौधा)देकर किया।
श्री मिश्रा ने अपने स्वागत उद्बोधन में कहा कि ‘क्षमता संवर्धन कार्यशाला’ शिक्षकों की शिक्षण क्षमता को बेहतर और इनोवेटिव बनाने का प्लेटफॉर्म है।शिक्षक ही देश के भाग्य विधाताओं का निर्माण अपने शिक्षण कौशलों के माध्यम से कक्षाओं में ही करते हैं।इस दो-दिवसीय ‘क्षमता संवर्धन कार्यशाला’ में जिन विषयों पर चर्चा और चिंतन होगा,उससे हमारा क्लास रूम प्रभावशाली बनेगा एवं परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन सम्यक तरीके से हो पाएगा।
प्राचार्य श्री मिश्रा ने सी बी एस ई,सी ओ ई,पटना के प्रमुख श्री तरुण कुमार जी एवं सी बी एस ई,पटना के क्षेत्रीय अधिकारी श्री अरविंद कुमार मिश्रा जी का आभार व्यक्त किया।उन्होंने यह भी कहा कि हमारा प्रोफेशन कमिटमेंट प्रोफेशन है जिसका निर्वहन हमें बड़ी जिम्मेदारी से करना है।
प्रथम सत्र में प्रशिक्षक श्री नवारुण सेनगुप्ता ने शिक्षकों को मूल्यांकन और मूल्यांकन प्रथाओं को मजबूत करने के गुर सिखाए।
वहीं द्वितीय सत्र में प्रशिक्षक श्री मुकुल आइजेक ने बताया कि नई-नई तकनीक के उपयोग से जहां शिक्षण कार्य सरल व प्रभावी बनाया जा सकता है वहीं विद्यार्थी भी लर्निंग में रूचि लेते हुए जल्द सीखते हैं।
दोनों प्रशिक्षकों ने शिक्षकों को आंकलन और मूल्यांकन प्रथाओं को मजबूत करने को सशक्त बनाया तथा ब्लूम टैक्सोनॉमी के माध्यम से शैक्षिक अधिगम के वर्गीकरण को ससन्दर्भ समझाया।इस शिक्षक संवर्धन कार्यशाला में विद्यालय के 60 शिक्षक 15 वर्गों में बटकर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।कार्यशाला को सफ़ल बनाने में विद्यालय के एस टी एन सी श्री एन सी पाढ़ी एवं उनके सहयोगी शिक्षक श्री सोवन देव चक्रवर्ती व श्रीमती मौसमी मज़ूमदार की भूमिका अहं रही।

This post has already been read 3137 times!

Sharing this

Related posts