टिफिन में हो कुछ हट कर

ब्रेकफास्ट के समय स्कूल जाने की टैंशन… तो शाम को डिनर के लिए बच्चों के पीछे-पीछे खाने की प्लेट लेकर भागना… और सबसे ज्यादा प्रॉब्लम होती है जब बच्चे स्कूल में लंच नहीं करते और अक्सर टिफिन वैसे ही घर वापस ले आते हैं। अब बच्चों को एनर्जी मिलेगी भी तो कैसे जैसी बातों की चिंता में मांओं को समझ में ही नहीं आता कि आखिर बच्चों को किस तरह खाना खाने के लिए प्रेरित किया जाए क्योंकि घर पर तो वे फिर भी कुछ न कुछ खिला ही देती हैं परंतु स्कूल के टिफिन का क्या किया जाए। इसके लिए जरूरी है कि खाने को उनकी पसंद का बना दिया जाए ताकि उनकी खाने से दोस्ती हो जाए।

लाएं नयापन:- यदि देखा जाए तो बच्चे बाहर का खाना बड़ी रुचि से खाते हैं परंतु घर के खाने को देख कर ही उन्हें बोरियत होती है इसलिए खाने के प्रति बच्चों में रुचि जगाने के लिए उनके खाने विशेषत:- उनकी टिफिन रैसिपीज में थोड़ी नवीनता लाएं ताकि बच्चे को उसके पसंदीदा खाने के लिए लंच ब्रेक का इंतजार रहे।

जंक फूड जैसा हो टेस्टी:- बच्चों को दाल, सब्जी और रोटी से ज्यादा जंक फूड खाना बेहद पसंद होता है। वह बाहर ऐसी चीजें खाना ज्यादा प्रैफर करते हैं यही कारण है कि पौष्टिक आहार की कमी उनके संपूर्ण विकास पर भी असर डालती है। बच्चे किसी भी तरीके से खाएं इस कारण ज्यादातर मांएं उनके लंच बॉक्स में ऐसा फूड रख देती हैं, जिसमें सैचुरेटेड फैट, नमक और चीनी की मात्रा ज्यादा होती है। यही कारण है कि उनमें चॉकलेट, जैम और जैली जैसी चीजें भी शामिल रहती हैं। इन सबके अलावा आप उनके टिफिन में अंकुरित दालें, पौष्टिक सलाद, हरी सब्जी-रोटी, फल आदि को अलग-अलग अंदाज में रखें। उन्हें खाने को प्रेरित करने से ही वे दिन भर अलर्ट तथा एनर्जी से भरपूर रहेंगे।

टिफिन ऐसे करें तैयार:- हर रोज टिफिन में सैंडविच या परांठा रख देने से बच्चे के मन में उसके प्रति बोरियत होना भी जायज है क्योंकि हर दिन एक जैसा खाना खाना किसी के लिए भी संभव नहीं होता। यूं तो आजकल छोटे बच्चों के लिए स्कूल ही एक चार्ट बना देता है कि किस दिन उनके टिफिन में क्या हो। इससे वे हर दिन एक नई चीज अपने फ्रैंड्स के साथ शेयर करते हुए खाने का आनंद लेते हैं। इसी प्रकार आप भी अपने फूड में विभिन्नता लाएं जिससे कि स्कूल के छ:- दिन उसे अलग-अलग पौष्टिक फूड मिले।

सोमवार को आप उनके टिफिन में कभी स्टफ परांठा तो कभी डोसा एवं उत्पम इत्यादि रख सकती हैं। मंगलवार को उनके टिफिन में अंकुरित दाल या फ्रूट चाट इत्यादि परांठे के साथ थोड़े चटपटे अंदाज में बना कर पैक करें, जिससे वे स्वाद ही स्वाद में चट कर जाएं। बुधवार को आप उनके लंच बाक्स में हरी सब्जी-परांठा या फिर वैज सैंडविच रखें तथा वीरवार को चना-पूरी बना लें। शुक्रवार को दाल-चावल या पुलाव और शनिवार को आप उन्हें सिर्फ फ्रूट्स भी दे सकती हैं। इसके अलावा कभी दलिया तो कभी पोहे, कभी घर पर बना बर्गर एवं कटलेट इत्यादि उन्हें स्कूल के लिए दें। इस तरह बच्चों की पसंद को ध्यान में रखते हुए उन्हें पौष्टिक भोजन दिया जा सकता है। इसके अलावा खाने की सजावट पर भी पूरा ध्यान दें क्योंकि स्वादिष्ट होने के साथ-साथ वह देखने में भी आकर्षक होना चाहिए इसलिए अलग-अलग तरीकों से खाना बनाना ही नहीं बल्कि उसे सजाने का तरीका भी अलग-अलग होना चाहिए।

This post has already been read 5421 times!

Sharing this

Related posts