झारखंड के बेस्ट मुगलई रेस्त्रां में शामिल करीम करीम में सर्वोत्तम मुगल भोजन, रांची सैनिक मार्केट

रांची: रांची के मेन रोड स्थित सैनिक मार्केट में करीम होटल एक सुसज्जित रेस्तरां है। इस की स्थापना मोहम्मद जमाल, तबरेज अजीज और मोहम्मद अनस ने किया था, और यह आज भी अपने ग्राहकों को मुगल व्यंजन परोसते है। 2022 में करीम की स्थापना की गई और जल्द ही यह रेस्तरां ने आम लोगों को स्वादिष्ट शाही भोजन परोसकर नाम और प्रसिद्धि अर्जित की। वर्तमान में, करीम एक रेस्तरां के साथ-साथ एक अच्छी तरह से स्थापित होटल है जिसमें भोजन का स्वाद लेने के लिए झारखंड सहित पूरे भारत से ग्राहक आते हैं। अभी हाल के दिनों में इंग्लैंड और भारत के क्रिकेट खिलाड़ी सहीत सुनिल गावस्कर करीम के शोभा बने। श्री गावस्कर ने कहा कि मैं जब भी रांची आता हूं करीम में खाना खाता हूं। यहां का खाना बहुत ही स्वादिष्ट और लज़ीज़ रहता है। करीम होटल के तंदूरी चिकन, मटन कोरमा,, लाजवाब होते हैं। इधर भोजन करने के बाद आप फिरनी का आनंद लिए बगैर नहीं जा सकते। हमने लगभग सभी व्यंजन आज़माए और हमें सीख कबाब की विशेष प्रशंसा करनी है जो सचमुच टूट जाता है (यह बहुत नरम है!)। इसका स्वाद उतना ही अच्छा है जितनी हमें उम्मीद थी। करी भी उतनी ही स्वादिष्ट होती है। लज़ीज़ मसालेदार चिकन या तीखे बादाम के पेस्ट में उबाले हुए मटन के कोमल टुकड़े और स्वादिष्ट व्यंजनों के चयन को पूरी तरह से पूरक करती है। सूखे मेवों और तीखे मसालों से सजी चावल की बिरयानी, और गर्म नान और रोटियाँ। इस होटल की सफलता का एक और कारण है जो बहुत कम लोग जानते हैं। संचालक रसोई के सभी पहलुओं की देखभाल स्वयं करते हैं। व्यंजनों से लेकर चखने तक, बेहतर स्वाद और भोजन की गुणवत्ता प्रदान करने के लिए सतर्क है जिसका करीम ने वर्षों पहले वादा किया था। संचालक का इरादा हमेशा अपने ग्राहकों को वही देखभाल और प्यार प्रदान करना है जिस पर करीम का निर्माण हुआ था।
करीम के निदेशक मोहम्मद जमाल, तबरेज अजीज और मोहम्मद अनस ने इधर वक्त के साथ नए-नए व्यंजन जोड़े। रांची के मिजाज को समझा। लोगों की प्रतिक्रियाओं और जायकों के प्रति समझ को समझा और उसे अपने मेन्यू का हिस्सा बनाया। देखते ही देखते करीम रांची की शान बन गया। और इसे झारखंड के बेस्ट मुगलई रेस्त्रां का खिताब मिलने लगा।

This post has already been read 929 times!

Sharing this

Related posts