जैप वन का रहा है गौरवशाली इतिहास : आरके मल्लिक

रांची। झारखंड सशस्त्र पुलिस बल (जैप वन) का 144वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर डोरंडा स्थित जैप वन परिसर स्थित मैदान में परेड का आयोजन हुआ। समारोह में जैप के एडीजी आरके मल्लिक मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि जैप का गौरवशाली इतिहास है। सिर्फ छह साल बाद यह वाहिनी 150वां स्थापना दिवस मनायेगी, जो किसी भी बल के लिए गौरव का विषय होगा।
राजकुमार मल्लिक ने कहा कि अंग्रेजी शासनकाल में 1880 में इसका गठन हुआ था। इस वाहिनी ने इतिहास को करवट लेते देखा है। 1947 के विभाजन की त्रासदी और 1971 की जंग के दौरान भी इस वाहिनी को आंतरिक सुरक्षा का दायित्व दिया गया था। उन्होंने कहा कि इतिहास को देखे, सबक लें और आगे बढ़े। विषम परिस्थिति में भी कूल टेंपरामेंट के साथ काम करते हैं, यह बहुत दुर्लभ गुण है।
वाहिनी के जवानों ने खेल के क्षेत्र में भी काफी नाम कमाया है। राष्ट्रीय खेलों एवं कॉमनवेल्थ गेम्स में जैप के खिलाड़ियों ने मेडल जीतकर वाहिनी का नाम बढ़ाया है। मुझे उम्मीद है कि वाहिनी के गौरव में और बढ़ोत्तरी होगी। इससे पूर्व जैप डीआईजी मयूर पटेल कनैयालाल ने अपने संबोधन में जैप वन के इतिहास के बारे में विस्तार से बताया।
इस अवसर पर उपस्थित अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। टंग ऑफ वार तथा खुखरी डांस का भी आयोजन हुआ। कार्यक्रम के दूसरे चरण में आनंद मेला का आयोजन किया गया। मेला में खाने पीने, गर्म कपड़े सहित मनोरंजन के कई स्टॉल लगाए गये थे। जैप वन का बैंड भी मेला में सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर सभी का मनमोह लिया। इस अवसर पर राज्य के कई वरीय अधिकारी मौजूद थे।

This post has already been read 1121 times!

Sharing this

Related posts