घुसपैठियों और घोटालेबाजों की बजाये मोदी और योगी को रोकने में लगी हैं ममताः प्रवीण

रांची। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बांग्लादेशी रोहिंग्या और घोटालेबाजों को रोकने की बजाय भाजपा और सीबीआई को रोकने में लगी हुई हैं। ममता बनर्जी को देश को बताना चाहिए कि वह भाजपा और सीबीआई से इतना डरती क्यों हैं और बंगाल में क्यों नहीं घुसने देना चाहती हैं? मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पश्चिम बंगाल में घुसने से रोकने की कोशिश कर ममता बनर्जी ने साबित कर दिया है कि वह देश के संघीय ढांचे और संविधान का सम्मान नहीं करतीं। उन्होंने बंगाल में अघोषित आपातकाल लगा रखा है। उनके शब्द ही कानून हैं। इसका जवाब जनता चुनाव में देगी। प्नभाकर ने कहा कि बंगाल की राजनीति में ममता बनर्जी से ज्यादा क्रूर, अमानवीय और लोकतंत्र विरोधी नेता नहीं हुआ। प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी को पश्चिम बंगाल में घुसने से रोकने का कुचक्र ममता बनर्जी की राजनीति की ताबूत का अंतिम कील बनेगा। भाजपा को रोकने में जितनी ताकत लगाएंगी ममता बनर्जी, कमल उतना ही खिलेगा। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी घुसपैठियों और भ्रष्टाचारियों की नेता बन गई हैं। वह दुर्गा पूजा और रामनवमी का विरोध करती हैं, लेकिन गो हत्या से उन्हें कोई दिक्कत नहीं। प्रधानमंत्री और दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री को पश्चिम बंगाल में घुसने नहीं देना चाहतीं। सीबीआई को पश्चिम बंगाल से बाहर करना चाहती हैं, लेकिन बांग्लादेशी और रोहिंग्या घुसपैठियों को रोकना नहीं चाहतीं। वह चिट फंड घोटाला के राजदारों को बचाने के लिए सड़क पर उतरने में देर नहीं करतीं। प्रभाकर ने कहा कि ममता को सीबीआई से दिक्कत है। चुनाव आयोग से परेशानी है। रॉ, सेना और सीआरपीएफ को देखना नहीं चाहतीं। सीएजी को सहयोग नहीं करतीं। सिर्फ घुसपैठियों और भ्रष्टाचारियों को ही सहयोग करने में उन्हें आनंद आता है। प्रभाकर ने कहा, अपने समकक्ष एक मुख्यमंत्री का अपमान करने की कोशिश कर ममता बनर्जी ने दिखा दिया है कि सत्ता के लिए लोकतांत्रिक व्यवस्था और परम्पराओं तथा मानवता की धज्जी उड़ाने में भी उन्हें कोई परहेज नहीं। इस मौके पर प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक भी मौजूद थे।

This post has already been read 7400 times!

Sharing this

Related posts