कर्नाटक में मुस्लिम छात्रों को सरकार ने दी बड़ी राहत, अब हिजाब पहनकर देंगे परीक्षा

कर्नाटक में मुस्लिम छात्राओं के लिए कांग्रेस सरकार ने बड़ी खुशखबरी दी है। कर्नाटक सरकार ने फैसला किया है कि प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान छात्राएं हिजाब पहन सकेंगी। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और राज्य के शिक्षा मंत्री एमसी सिद्धाकर ने हिजाब मुद्दे पर एक विश्लेषणात्मक बैठक की। बैठक में सभी बातों को ध्यान में रखते हुए छात्रों को परीक्षा के दौरान हिजाब पहनने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया.
हिजाब मुद्दे पर कर्नाटक सरकार में शिक्षा मंत्री एमसी सिधाकर का कहना है कि कुछ लोग हिजाब पर विवाद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. ये लोग परीक्षा में छात्रों के हिजाब पहनने पर आपत्ति जताते हैं और माहौल खराब करने के साथ-साथ भ्रम पैदा करना चाहते हैं. शिक्षा मंत्री ने आगे कहा कि सरकार ने सभी लोगों की आजादी को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है. नेट परीक्षा में भी छात्रों को हिजाब पहनकर बैठने की इजाजत है. कोई भी व्यक्ति अपनी इच्छानुसार कपड़े पहनकर परीक्षा में शामिल हो सकता है, किसी प्रकार की कोई रोक-टोक नहीं होगी।
गौरतलब है कि 2022 में कर्नाटक में हिजाब विवाद ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं. उडुपी जिले के पीयू सरकारी कॉलेज में प्रशासन ने छात्रों के हिजाब पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया था. उन्हें कॉलेज में प्रवेश नहीं करने दिया गया. इस पर काफी हंगामा हुआ और फिर कई कॉलेजों और सरकारी परीक्षाओं में मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनने की इजाजत नहीं दी गई। मुस्लिम छात्रों ने कई कॉलेजों के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, लेकिन कॉलेज प्रशासन और राज्य की बीजेपी सरकार पर इसका कोई असर नहीं हुआ. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेताओं ने कहा था कि अगर वे सरकार में आए तो मुस्लिम छात्रों को हिजाब पहनकर परीक्षा देने की इजाजत दी जाएगी और अब कांग्रेस ने अपना वादा पूरा कर दिया है.

This post has already been read 1281 times!

Sharing this

Related posts