एमआरडी बीएड कॉलेज सांडी में गांधी जयंती हर्षोल्लास के साथ मनाई गई

  • उत्सव का  उद्देश्य न केवल बापू को श्रद्धांजलि देना, बल्कि युवा पीढ़ी के दिलों में उनके मूल्यों को स्थापित करना : आरफा सदब

ओरमांझी: मोती राज देवी टीचर ट्रेनिंग कॉलेज सांडी ओरमांझी में महात्मा गांधी की 154वी जयंती को बड़े उत्साह और उमंग के साथ महा विद्यालय परिसर में मनाया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य राष्ट्रपिता के अहिंसा,सत्य और सादगी के सिद्धांतों को उजागर करना था। इस अवसर पर उप  प्राचार्या आरफा सदब एवं समस्त शिक्षक व कर्मचारी महात्मा गांधी जी को श्रद्धांजलि देने के लिए विद्यालय परिसर में एकत्र हुए। विद्यालय के उप प्राचार्या आरफा सदब ने गांधी जी की चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं शपथ दिलाई। गांधीवादी मूल्यों की भावना से प्रेरित होकर इस अवसर पर स्वच्छता अभियान भी चलाया गया। विद्यालय के विद्यार्थियों ने स्वच्छ और हरित पर्यावरण के महत्व को बढ़ावा देते हुए विद्यालय परिसर और आसपास के गांव की सड़कों की सफाई में सक्रिय रूप से अपनी सहभागिता दिखाई। इस शुभ अवसर पर उन्होंने गांधी जी को श्रद्धांजलि भी अर्पित किया। विद्यालय के उप प्राचार्या आरफा सदब ने इस पावन अवसर पर गांधी जी के द्वारा प्रतिपादित सत्य और अहिंसा के महत्वपूर्ण सिद्धांतों को वर्तमान संदर्भ में भी प्रशसंगिक बताया और सभी को शांति और सद्भाव के साथ उनके दिखाई  गए मार्ग पर चलने के लिए प्रोत्साहित किया।उन्होंने कहा कि इस उत्सव का मुख्य उद्देश्य न केवल बापू को श्रद्धांजलि देना है, बल्कि युवा पीढ़ी के दिलों में उनके मूल्यों को स्थापित करना भी है। यह बहुत गर्व की बात है। कि गांधी जी के सिद्धांत आज की दुनिया में भी प्रासंगिक और आवश्यक बने हुए हैं। मौके पर मुख्य रूप से सिपोरा मिंज, संध्या रानी बड़ाइक, अपूर्वा सांगा, सुचिता टोप्पो, रैना, ऑलिव टेटे आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

This post has already been read 3649 times!

Sharing this

Related posts