एक उमरा दूसरे उमरा के बीच गुनाहों का कफ्फारा है: मुफ्ती उमर फारूक

19 अक्टूबर को लोहरदगा और आसपास से उमरा जायरीनों का प्रस्थान निश्चित: हाफिज मोहम्मद इमरान

लोहरदगा: उमरा के पवित्र यात्रा पर जाने वाले भाग्यशाली तीर्थयात्रियों के लिए सईद कॉम्प्लेक्स न्यू रोड लोहरदगा में एक महत्वपूर्ण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आयोजित बैठक को जनाब अल्हाज हाफिज मुहम्मद इमरान हज एवं उमरा सर्विस लोहरदगा एवं मुफ्ती मुहम्मद उमर फारूक काजी शरीयत लोहरदगा ने संबोधित किया।उमराह पर जाने वाले जायरीनों को विस्तृत संबोधन देते हुए जनाब हाफिज मुहम्मद इमरान ने कहा कि आगामी 19 अक्टूबर को लोहरदगा और आसपास से उमरा जायरीनों का प्रस्थान निश्चितच है। उमरा दौरान इबादत पर खास ध्यान दें। अपने समय को कीमती बनाने की भरपूर कोशिश करें, दिल से प्रार्थना करें, अपने लिए साथ ही साथ देश में अमन , चैन और खुशहाली के लिए भी दुआ करें। शरीयत की रोशनी में हर कार्य को करने का प्रयास करें, उन्होंने तीर्थयात्रियों से आग्रह किया और कहा कि यात्रा में हर साथी को एक-दूसरे का समर्थन करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि इस अवसर पर खरीदारी पर ज्यादा ध्यान नहीं दें। मुफ्ती उमर फारूक काजी शरीयत लोहरदगा ने कहा कि आमतौर पर जो लोग पहली बार उमरा के लिए जाते हैं, उन्हें हरम मक्का में प्रवेश और तवाफ की शुरुआत और अंत के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है। ऐसे लोगों को काबा का तवाफ़ करते समय संतुष्टि दिखानी चाहिए और निर्धारित नियमों का ध्यान रखना चाहिए, ताकि वे शांति से तवाफ़ कर सकें। और इस मुबारक कार्य को इबादत की नियत से पूरी ईमानदारी और श्रद्धा के साथ करें। मौके पर हाजी रेयासत साहब, हाजी सईद साहब, मुहम्मद इरफान, ताबिश आलम और मुहम्मद हसनैन आदि ने भाग लिया। हाजी हाफीज मोहम्मद इमरान आलम ने बताया कि इस बार कुल 40 लोग हज उमरा के लिए जा रहे हैं। जिनमें से हजारीबाग और अंबिकापुर के लोग यहां की ट्रेनिंग  कैंप नहीं आए हैं। लोहरदगा के इस ट्रेनिंग कैंप में जायरीनों में रांची, लोहरदगा, लातेहार, जमशेदपुर से कुल 21 लोग शामिल हुए, जिनमें 9 महिलाएं शामिल थीं। अजमुल अंसारी ग्राम करगे, आमना खातून ग्राम कारगे, आबेदा खातून लोहरदगा, मंसूर आलम लोहरदगा, सईदा बीबी लोहरदगा, महरून बीबी लोहरदगा, खातून बीबी किस्को, अख्तर अंसारी किस्को, मो. कयूम अंसारी बालूमाथ, मो. रिजवान राजनगर, मुमताज राजनगर, सगीर नाइ राजनगर, मोहम्मद खाती टाटा, मोहम्मद उमर टाटा, रजियन शाहीन टाटा, जुबैदा बीबी टाटा, समीर अंसारी लोहरदगा, राबिया खातून लोहरदगा, मोहम्मद असलम लोहरदगा, समना खातून बालसोकरा, शारिक्वा कौसर बालसोकरा आदि शामिल हैं।

This post has already been read 2369 times!

Sharing this

Related posts