ईडी के विरोध में आदिवासी संगठनों ने मोरहाबादी मैदान से राजभवन तक निकाला आक्रोश मार्च

रांची । केंद्रीय सरना समिति के नेतृत्व में आदिवासी संगठनों से जुड़े लोगों ने शुक्रवार को मोरहाबादी मैदान से राजभवन तक आक्रोश मार्च निकाला। ईडी के मुख्यमंत्री को समन भेजने के विरोध में विभिन्न आदिवासी संगठनों के लोग एकजुट हुए हैं। सभी सरना झंडा और तख्तियां लिए हुए थे। तख्तियां में लिखा था कि आदिवासी मुख्यमंत्री को प्रताड़ित करना बंद करो, केंद्र सरकार होश में आओ।
मौके पर केंद्रीय सरना समिति अध्यक्ष अजय तिर्की ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तुम बढे चलो हम तुम्हारे साथ हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से आदिवासी मुख्यमंत्री को परेशान किया जा रहा है। यदि केंद्र की भाजपा सरकार का यही रवैया रहा तो आने वाले दिनों में विरोध का स्वरूप और तेज होगा। उन्होंने कहा कि ईडी वाले भाजपा शासित राज्यों का रास्ता क्यों भूल जाते हैं। साथ ही कहा कि मुख्यमंत्री से ईडी की पूछताछ पर आदिवासी समाज की नजर है। यदि ईडी ने मुख्यमंत्री को अपमानित करने की कोशिश की तो जिस तरह से बंगाल में ईडी पर पत्थर चला था, यहां तीर-धनुष चलेगा। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को हाथ भी लगाया गया तो झारखंड में आग लगा देंगे।
उल्लेखनीय है कि जमीन से जुड़े मामले में बयान दर्ज कराने के लिए ईडी ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन को एक के बाद एक आठ समन भेजा है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने 20 जनवरी को ईडी को मुख्यमंत्री आवास आकर पूछताछ करने पर सहमति दी है। ऐसे में आदिवासी संगठन इस बात को लेकर आक्रोश जता रहे हैं कि केंद्र के इशारे पर ईडी काम कर रहा है और एक आदिवासी मुख्यमंत्री की छवि खराब की जा रही है।

This post has already been read 673 times!

Sharing this

Related posts