इमरजेंसी और क्रिटिकल केयर के मरीजों को त्वरित और बेहतर इलाज देने पर ज़ोर

रांची, : मेदांता हॉस्पिटल, रांची ने शनिवार को बूटी मोड, रांची स्थित होटल द राॅयल रीट्रीट में इमरजेंसी एंड क्रिटिकल केयर पर एक वर्कशाॅप तथा हैंड्स ऑन का आयोजन किया। यह वर्कशाॅप पांच सेशन में आयोजित किया गया। हाॅस्पिटल के डायरेक्टर श्री विश्वजीत कुमार के अतिथियों का स्वागत क्रिटिकल केयर एवं इमरजेंसी की उपयोगिता पे प्रकाश डालकर वर्कशाॅप की शुरुआत हुई। वर्कशाॅप में आए सभी वक्ताओं ने इमरजेंसी और ट्रामा मरीजों को त्वरित और बेहतर इलाज देने पर बल दिया।
पहला सेशन कम्प्रहेंसिव एसेसमेंट ऑफ क्रिटिकली इल पेसेंट इन इमरजेंसी/आई.सी.यू. पर हुआ जिसमें एसोसिएट डायरेक्टर एंड क्रिटिकल केयर के हेड डाॅ. तापस कुमार साहू ने अपने व्याख्यान दिये तथा अपना अनुभव साझा किया। दूसरा सेशन सिस्टमेटिक एप्रोच टू मैनेजिंग अ पेसेंट विद पाॅलीट्रामा पर था। न्यूरो एनेस्थेसिया एंड क्रिटिकल केयर के कंसल्टेंट डाॅ. मनोज कुमार ने इस विषय पर विस्तार से बताया तथा अपना अनुभव डाॅक्टरों के साथ साझा किया। तीसरा सेशन एयरवे मैनेजेमेंट एंड वेंटिलेटर सपोर्ट फाॅर क्रिटिकली इल पेसेंट के बारे में हुआ जिसमें कंसल्टेंट क्रिटिकल केयर के डाॅ. कासिफ जमाल ने व्याख्यान दिये। चैथा सेशन इंटरप्रेटिंग काॅमन ईसीजी, एबीजी एंड लैबोरेटरी इंवेस्टीगेसन पर हुआ। सेशन एसेंसियल प्रोसिजर्स इन द इमरजेंसी रूम एंड इंटेंसिव केयर यूनिट, जिसमें एसोसिएट डायरेक्टर एंड हेड क्रिटिकल केयर डाॅ. तापस कुमार साहू ने इस विषय पर गंभीरता पूर्वक चर्चा की तथा अपने अनुभव वर्कशाॅप में आये अतिथियों से साझा की। कार्यक्रम में मेदांता हॉस्पिटल रांची के क्रिटिकल केयर के एसोसिएट कंसल्टेंट डॉक्टर नसीम अख्तर, कंसलटेंट डॉक्टर अबिद रजा एवं कंसलटेंट डॉक्टर रितेश चंद्रा भी उपस्थित थे जिन्होंने क्रिटिकल केयर मैनेजमेंट में अपनी जानकारी साझा की। इस वर्कशॉप में रांची तथा अन्य जिलों के हॉस्पिटल, नर्सिंग होम के लगभग 70 डोक्टरों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की तथा अपने अनुभव साझा किए। इसके बाद वर्कशाॅप में आये डाॅक्टरों के बीच प्रमाण-पत्र का वितरण किया गया।

This post has already been read 705 times!

Sharing this

Related posts