आरटीसी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी आनंदी के नए प्राचार्य ने किया पदभार ग्रहण

ओरमांझी: प्रखण्ड क्षेत्र स्थित आरटीसी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी आनंदी के नये प्राचार्य डॉ एन.हरी बाबू को बनाए गए। उन्होंने कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. एकबाल रशीद से गुरुवार को पदभार ग्रहण किया। डॉ एकबाल रशीद ने प्राचार्य को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत करते हुए कहा कि नवनियुक्त प्राचार्य के दिशा निर्देश में कॉलेज के विकास में एक नया आयाम स्थापित होगा। व्यवसायिक व रोजगारोन्मुख पाठ्यक्रमों पर जोर देकर छात्र-छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने का सार्थक प्रयास किया जाएगा। मौके पर निदेशक ए.पी.सिंह, प्रबंध निदेशक सुमीत राज एवं सभी विभागों के डीन व विभागाध्यक्ष उपस्थित थे। ज्ञात हो कि डॉ. एन हरि बाबू ने आंध्र विश्वविद्यालय से बी.टेक, एम.टेक और पीएचडी पूरी की है। उनके पास शैक्षणिक, प्रशासन में 25 वर्षों से अधिक का व्यापक अनुभव है। उन्हें थर्मल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अनुसंधान गतिविधियों का भी समृद्ध अनुभव है। वह विभिन्न शैक्षणिक समिति के सदस्य भी रहे हैं।
डॉ. बाबू ने प्रतिष्ठित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में एससीआई/स्कूप्स में 30 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित किए हैं। साथ ही भारत और विदेशों में विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में भी भाग लिया है। वह इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स और आईएसटीई के आजीवन सदस्य हैं। वह विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं और सम्मेलनों के सलाहकार बोर्ड में भी हैं। उन्होंने संकाय और छात्रों के लिए कई संकाय विकास कार्यक्रम आयोजित किए हैं।उन्होंने एआईसीटीई द्वारा वित्त पोषित कई परियोजनाएं पूरी की हैं। उन्होंने एनबीए मूल्यांकन कर्ता प्रमाणपत्र प्राप्त किया है। वह एनबीए और एनएएसी मान्यता के लिए विभिन्न संस्थानों के सलाहकार रहे हैं। यह उनका पहला भाषण है जिसमें उन्होंने संस्थान और छात्रों के समग्र सुधार पर जोर दिया। उन्होंने परिणाम आधारित शिक्षा पर भी जोर दिया। संस्थान की एनएएसी मान्यता उनकी प्राथमिकता है। सभी संकाय के सदस्यों ने उनका स्वागत किया है।

This post has already been read 449 times!

Sharing this

Related posts