आकांक्षी जिला कार्यक्रम ने 25 करोड़ लोगों की जिंदगी बदली : मोदी

नयी दिल्ली ।   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को भारत मंडपम में देश के आकांक्षी ब्लॉकों के लिए ‘संकल्प सप्ताह’ नामक एक कार्यक्रम की शुरूआत की। पीएम मोदी ने संकल्प सप्ताह को संबोधित करते हुए राज्य सरकारों और अधिकारियों से इस बात पर भी ध्यान देने का आग्रह किया कि जो ब्लॉक के भीतर सफल हैं, उनका भविष्य भी उज्ज्वल बनें क्योंकि उनमें कुछ करने का जुनून है। पीएम मोदी ने कहा देश के 112 जिलों में 25 करोड़ से अधिक लोगों की जिंदगी बदल दी और इसकी सफलता अब आकांक्षी ब्लॉक कार्यक्रम का आधार बनेगी।पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, “एस्पिरेशनल ब्लॉक्स के लिए, मैं राज्य सरकारों और भारत सरकार के अधिकारियों से आग्रह करूंगा कि वे इस बात पर भी ध्यान दें कि जो ब्लॉक के भीतर सफल हैं, उनका भविष्य भी उज्ज्वल होना चाहिए, ताकि उनमें कुछ करने का जुनून हो। जो लोग अच्छे परिणाम लाते हैं, उन टीमों को आगे बढ़ाया जाना चाहिए।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि हम 2047 तक देश को विकसित राष्ट्र के रूप में देखना चाहते हैं।पीएम मोदीने जमीनी स्तर पर विकास के लिए संसाधनों के अधिकतम उपयोग और जन भागीदारी की महत्ता पर जोर दिया। मोदी ने कहा, ‘‘आकांक्षी जिला कार्यक्रम ने देश के 112 जिलों में 25 करोड़ से अधिक लोगों की जिंदगी बदल दी है। उनके जीवन की गुणवत्ता में बदलाव आया है।” उन्होंने कहा कि आकांक्षी जिला कार्यक्रम की सफलता अब आकांक्षी ब्लॉक कार्यक्रम का आधार बनेगी। मोदी ने कहा, ‘‘बहुत कम लोगों को इतने लंबे वक्त तक सरकार चलाने का मौका मिलता है, जैसा कि मुझे मिला है। और मैं अनुभव से यह कहता हूं कि केवल बजट से बदलाव नहीं आता, अगर हम संसाधनों और अभिसारिता का अधिकतम उपयोग करें, तो ब्लॉक के लिए किसी नयी निधि के बिना भी काम किया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सुशासन की पूर्व शर्त संसाधनों का अधिकतम उपयोग है। उन्होंने संसाधनों के समान वितरण पर भी जोर दिया। ‘संकल्प सप्ताह’ का संबंध आकांक्षी ब्लॉक कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन से है। प्रधानमंत्री ने सात जनवरी को इस देशव्यापी कार्यक्रम की शुरुआत की थी। इस कार्यक्रम का उद्देश्य नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए ब्लॉक स्तर पर शासन में सुधार लाना है। इसे देश के 329 जिलों के 500 आकांक्षी ब्लॉक में लागू किया जा रहा है।तीन से नौ अक्टूबर तक चलने वाले ‘संकल्प सप्ताह’ का हर दिन एक विशिष्ट विकास थीम के लिए समर्पित है, जिस पर सभी आकांक्षी ब्लॉक काम करेंगे। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, पहले छह दिन की थीम क्रमशः ‘संपूर्ण स्वास्थ्य’, ‘सुपोषित परिवार’, ‘स्वच्छता’, ‘कृषि’, ‘शिक्षा’ और ‘समृद्धि दिवस’ है। इसके आखिरी दिन नौ अक्टूबर को ‘संकल्प सप्ताह समावेश समारोह’ के रूप में पूरे सप्ताह किए गए काम का जश्न मनाया जाएगा।

This post has already been read 1665 times!

Sharing this

Related posts