अमृत भारत स्टेशन योजना विकास की दिशा में व्यापक प्रतिबद्धता को दर्शाता है : राज्यपाल

पूर्वी सिंहभूम। राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने प्रधानमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि ‘अमृत भारत स्टेशन योजना’ भारतीय रेलवे नेटवर्क की दक्षता और बुनियादी ढांचे के विकास की दिशा में व्यापक प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे नेटवर्क विश्व स्तर पर सबसे बड़ी और सबसे विकसित प्रणालियों में से एक है, जो देशभर में लोगों एवं वस्तुओं के आवागमन की दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करता है।
राज्यपाल पूर्वी सिंहभूम (जमशेदपुर) टाटानगर रेलवे स्टेशन पर सोमवार को आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री झारखंड में रेलवे नेटवर्क विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। झारखंड में टाटानगर और अन्य रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास इसी दिशा में एक सार्थक कदम है।
राज्यपाल ने कहा कि अमृत भारत स्टेशन योजना जैसी पहल विकसित भारत 2047 की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास है। उन्होंने विकसित भारत के लिए अन्य योजनाओं प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, जल जीवन मिशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की है। इससे लोगों को काफी सुविधा प्राप्त हो रही है।
राज्यपाल ने इस अवसर पर साउथ ईस्टर्न रेलवे हाई स्कूल, टाटा में आयोजित ‘2047 का विकसित भारत विकसित रेल’ विषय पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया। इस कार्यक्रम के बाद राज्यपाल ने अन्नामृत फॉउंडेशन में जाकर वहां की कार्यप्रणाली को देखा और पौधरोपण भी किया। अन्नामृत फॉउंडेशन के जरिए बच्चों को मिड-डे-मील उपलब्ध कराया जाता है।

This post has already been read 1153 times!

Sharing this

Related posts