राष्ट्रीय पटल पर राज्य के स्कूली बच्चों ने खेल प्रतिभाओं से बनाई अमिट पहचान

रांची। खेल प्रतिभाओं के मामले में झारखंड राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पटल पर अलग पहचान रखता है। झारखंड में खेल को लेकर अलग ही उत्साह और जुनून देखने को मिलता है। राज्य के स्कूली बच्चों में भी लगातार खेल प्रतिभाओं को विकसित करने के लिए राज्य स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग और राज्य शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा कई कार्यक्रम व आयोजन किये जा रहे हैं।
इन प्रतिभाओं को मंच देने के लिए झारखंड राज्य में संचालित 35,443 सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त एवं गैर सरकारी विद्यालयों में ‘खेलो झारखंड’ खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। खेलो झारखंड का उद्देश्य स्कूली स्तर पर बच्चों को शिक्षा के साथ नवोदित प्रतिभाओं की पहचान करना, साथ ही विद्यालय स्तर पर खेल प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तरीय प्रतिस्पर्धाओं में पदक प्राप्त करना है।
स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, झारखंड सरकार एवं राज्य शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा खेलो झारखंड 2023-24 का आयोजन राज्य के 24 जिलों के सभी 268 प्रखंडों के कुल 35,443 स्कूलों में विद्यालय स्तर, प्रखंड, जिला एवं राज्य स्तर पर किया गया। इसका मुख्य आयोजन राज्यस्तर पर रांची के मेगा स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, खेलगांव में किया गया था। इन सभी आयोजनों के उपरान्त राष्ट्रीय आयोजनों से पूर्व सभी खेलो के चयनित खिलाड़ियों को 21 दिनों के विशेष प्रशिक्षण शिविर में भेजा गया था, जहां इन्हें उच्च स्तरीय प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षित किया गया। इसी का परिणाम है कि राज्य के स्कूली बच्चों ने अपने खेल प्रतिभाओं से राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में पदकों से राज्य की झोली भर दी है।

इन प्रतियोगिताओं में राज्य के स्कूली बच्चों ने मनवाया लोहा
67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता 2023-24, सुब्रतो कप अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल टूर्नामेंट, नेहरू कप प्रतियोगिता में राज्य के स्कूली बच्चों ने अपने खेल प्रतिभाओं से डंका बजा दिया है। 66वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता के मुकाबले 67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता में अधिक बच्चों ने भाग लिया। 66वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता में 47 बच्चों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया था जबकि 67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता में यह संख्या बढ़कर 220 बच्चों तक पहुंच गयी। यह दर्शाता है कि राज्य में खेल प्रतिभाओं के विकास और उनके प्रोत्साहन के लिए राज्य स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा किये जा रहे प्रयासों का सकारात्मक प्रभाव हो रहा है।
66वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता के मुकाबले 67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिताओं में राज्य के बच्चों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राज्य की झोली पदकों से भर दी। 66वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता में झारखंड की झोली में 3 स्वर्ण, 1 रजत और 9 कांस्य पदकों को मिलाकर कुल 13 पदक आये थे। 67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल प्रतियोगिता में राज्य ने स्वर्णिम छाप छोड़ते हुए 19 स्वर्ण, 30 रजत और 39 कांस्य पदकों के साथ कुल 88 पदक अपने नाम कर लिया।

This post has already been read 1281 times!

Sharing this

Related posts