मतदाता जागरुकता के लिए एसवीईईपी के तहत सोशल मीडिया अभियान सात मई को

रांची। झारखंड में लोकसभा चुनाव के चौथे, पांचवे, छठे और सांतवे चरण में मतदान होना है। चुनाव में मतदाता जागरुकता के लिए सात मई को संध्या छह बजे से आठ बजे तक सोशल मीडिया हैंडल्स एक्स, फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब आदि पर # मैं भी इलेक्शन अम्बेसडर अभियान चलाया जाएगा। व्यवस्थित मतदाता शिक्षा (एसवीईईपी) के तहत इस अभियान का संचालन होगा। इसमें राज्य के सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षक, छात्र और एसएमसी सदस्य शामिल होंगे।
स अभियान के तहत स्कूलों में पूर्व से संचालित की जा रही विभिन्न मतदाता जागरूकता संबंधी गतिविधियों से संबंधित तस्वीरें, वीडियो, स्लोगन, पेंटिंग्स आदि # मैं भी इलेक्शन अम्बेसडर अभियान के अंतर्गत पोस्ट की जाएंगी। साथ ही सभी विद्यालयों में अपील पत्र, पेंटिंग, पोस्टर मेकिंग, बैज मेकिंग, कार्टून मेकिंग, अभिभावकों-पड़ोसियों के साथ सेल्फी, रंगोली मेकिंग आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा, जिसे सोशल मीडिया अभियान के तहत अपलोड किया जाएगा।
इसके अलावा प्रतिदिन स्कूलों में मतदान से संबंधित रोचक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। बच्चों को भारत के विराट लोकतांत्रिक विरासत और इसकी गौरवगाथा के बारे में बताया जा रहा है। बच्चे इन प्रयासों से लोकतांत्रिक इतिहास और मतदान के महत्त्व को आसानी से समझ पा रहे हैं। इतना ही नहीं वे अपने टोलों, गांवों में भी जागरुकता अभियान चला रहे हैं।
राज्य के हाई स्कूलों में छात्रों एवं उनके अभिभावकों को मतदान के लिए प्रेरित करने के लिए इलेक्टोरल लिट्रेसी क्लब बनाया गया है। इसके अंतर्गत विद्यालयों में ‘लोकतंत्र कक्ष’ की स्थापना की गयी है। इस रूम में लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं से जुड़े चित्रों, पेंटिंग्स, आर्ट एंड क्राफ्ट, ईवीएम, वीवीपैट मशीने आदि की प्रतीकात्मक प्रदर्शनी लगाई गयी है।
बच्चे इस कक्ष में अभिभावकों के साथ आकर लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को आसानी से समझ सकते है। इस कक्ष में भारत के लोकतांत्रिक इतिहास के बारे में भी बच्चे जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। इस क्लब के माध्यम से अभिभावकों को चुनावी तिथियों की जानकारी तो दी ही जा रही है। साथ ही उनकी वोटर पर्ची, मतदाता पहचान पत्र, बूथ संख्या आदि से जुड़े शंकाओं को भी दूर किया जा रहा है।
मतदाता जागरुकता के उद्देश्य से सरकारी विद्यालयों में बच्चों के लिए लगातार चुनाव से संबंधित रोचक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। इसमें रंगोली, पेंटिंग, स्लोगन मेकिंग, वाल पेंटिंग, स्पीच आदि प्रतियोगिताएं शामिल हैं। स्कूली बच्चे लगातार इन प्रतियोगिताओ में भाग लेकर पाठ्येत्तर कौशल को विकसित कर रहे हैं। साथ ही चुनाव को लेकर उनकी दिलचस्पी और उत्साह भी बढ़ रही है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा कई विद्यालयों को वोटर अवेयरनेस प्रोग्राम के तहत सम्मानित भी किया गया है।

This post has already been read 577 times!

Sharing this

Related posts