वोट के लिए  देश को जाति-धर्म में बांट दिया: राकेश टिकैत

मेरठ। भारतीय किसान यूनियन  के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत  मेरठ के कंकरखेड़ा निवासी शहीद मेजर मयंक विश्नोई के घर पहुंचे यहां से लौटते वक्त गोल्डन सर्किल स्थित कुटिया पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा जिस तरह वोट की खातिर देश को बांटने का काम करती है उसी तरह किसान आंदोलन  को खत्म करने के लिए उसे भी जाति में बांटने का काम कर रही है, लेकिन किसान भाजपा  के इस खेल को जान चुका है। अब वह वही करेगा जो संयुक्त किसान मोर्चा  का फैसला होगा।
टिकैत ने बताया कि वह आज शहीद मयंक बिश्नोई के परिजनों से मिलने आए थे। आंदोलन को 10 महीने होने के बाद भी सरकार द्वारा बातचीत नहीं करने के सवाल पर कहा कि सरकार को शर्म आनी चाहिए कि वह लोकतंत्र में बातचीत का दरवाजा बंद किए हुए हैं। अभी तक के इतिहास में कभी किसी सरकार ने ऐसा नहीं किया। गन्ना मूल्य के सवाल पर टिकैत ने कहा कि सरकार में आने से पहले भाजपा नेता 450 रुपए प्रति कुंतल की मांग करते थे, 5 साल में महंगाई भी बढ़ी है ये 450 ही करदे तो गनीमत है। केंद्र सरकार पर हमला करते हुए बोले कि सरकार अपने पूंजीपति दोस्तों को सरकारी संपत्तियों को बेचने में लगी है, बेरोजगारी चरम पर है किसान बर्बाद है,  लेकिन सरकार कोई समाधान नहीं कर रही है। किसानों और नौजवानों ने अब सरकार को वोट की चोट देने की ठान ली है।

This post has already been read 2316 times!

Sharing this

Related posts