बच्चे की मौत से नाराज महिलाएं बैठी धरना पर

Bokaro : बेरमो प्रखंड के गोविंदपुर ई पंचायत के आंगनबाड़ी केंद्र में टीकाकरण के बाद तीन माह के बच्चे की मौत से नाजार महिलाएं रविवार को एएनएम पर कार्रवाई की मांग की लेकर बोकारो थर्मल थाना के समक्ष विरोध-प्रर्दशन के बाद धरने पर बैठ़ गईं।

महिलाओं का आरोप था कि एएनएम की लापरवाही के कारण तीन माह के नवजात की मौत हो गयी। दस मिनट के अंतराल में बच्चे को तीन टीका और दो ड्रॉप देकर एएनएम केंद्र से निकल गयी। टीकाकरण करने के उपरांत बच्चे की हालत खराब हो गयी। उसे आनन-फानन में स्थानीय डीवीसी अस्पताल में भर्ती कराया। वहां पर जांच के बाद डॉक्टरों ने बच्चे को मृतक घोषित कर दिया। महिलाओं का कहना था कि न्याय नहीं मिला और एएनएम की गिरफ्तारी नहीं हुई, तो कब्र से नवजात का शव निकालकर थाना गेट में धरना में बैठ़ जाऐंगे।

और पढ़ें : दूंगी दा अद्भुत झरने के पानी से स्नान करने पर चर्म रोग ठीक हो जाते

जांच के लिए पहुंची बेरमो की स्वास्थ्य विभाग की टीम

टीकाकरण के बाद बच्चे की मौत के 24 घंटे के बाद जिला प्रशासन के आदेश पर बेरमो के स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने बोकारो थर्मल पहुंची। जांच टीम ने मृत बच्चे के दादी, मां सहित आंगनबांडी केंद्र की सेविका-सहायिका का बयान कलमबद्व किया। इसकी पूरी जानकारी डब्लूयूएचओ को भेजी गयी। इसके पूर्व बोकारो थर्मल पुलिस ने भी मृतक नवजात के मां उषा देवी और पिता संतोष करमाली का बयान दर्ज किया गया।

इसे भी देखें : सेक्युलर भारत के स्तंभ थे “दिलीप साहब”

इस मामले में कांड संख्या 60/2021 के तहत मामला दर्ज किया गया। इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी रविंद्र कुमार सिंह ने कहा कि पूरे मामले को गंभीरता से जांच की जा रहीं है। पोस्टमार्टम रिर्पोट के बाद कार्रवाई की जाएगी।उल्लेखनीय है कि मामला 10 जुलाई का है। मासिक टीकाकरण गोविंदपुर ई पंचायत के ऊपर टोला आंगनबांडी केंद्र संख्या 239 में 0-6 माह के बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा था, जिसमें संतोष करमाली व ऊषा देवी के तीन माह के नवजात का टीकाकरण हुआ था।

This post has already been read 991 times!

Related posts