Bihar,इको टूरिजम के विकास से राज्य में आने वाले पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी साथ ही लोगों की आमदनी भी बढ़ेगी : नीतीश कुमार

Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष आज इको टूरिज्म पॉलिसी से संबंधित प्रस्तुतीकरण दिया गया। प्रस्तुतीकरण के पश्चात् मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण को लेकर हमलोगों ने कई कदम उठाये हैं। राज्य में इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए इको टूरिज्म पॉलिसी बनायी जा रही है। सामंजस्य रखते हुए पर्यटन को बढ़ावा देना है।

और पढ़ें : Ramgarh,48 घंटे से लापता युवक का शव बरामद,परिजनों नेत्या का आरोप दोस्तों पर लगाया

सीएम ने कहा कि इस बात का ध्यान रखना है कि प्रति को किसी प्रकार से नुकसान न हो। इससे राज्य के लोगों में पर्यावरण एवं जीव जंतुओं के संरक्षण के प्रति जागरुकता बढ़ेगी और प्रति का संरक्षण भी बेहतर तरीके से होगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जैव विविधता, परंपरागत ज्ञान एवं हेरिटेज को भी सुरक्षित रखना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वाल्मीकिनगर अपने आप में यूनिक जगह है। यहां एक तरफ गंडक नदी है तो दूसरी तरफ वन एवं पहाड़ हैं। यह इको टूरिज्म का बेहतर स्थल बनेगा। वाल्मीकिनगर पहुंचने के लिए आवागमन सुगम बनाया गया है। वहां लोगों के रहने के साथ ही मनोरंजन की अन्य गतिविधियों की भी व्यवस्था की जा रही है।

इसे भी देखें : आदिवासी युवक को वाहन से घसीट कर मारने वाले के खिलाफ पुलिस ने की कार्रवाई

सीएम ने कहा कि वाल्मीकिनगर में एक कन्वेंशन सेंटर का निर्माण भी कराया जाएगा, जहां कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करने में सहुलियत हो जाएगी। इको टूरिजम के विकास से राज्य में आने वाले पर्यटकों की संख्या तो बढ़ेगी ही, साथ ही स्थानीय लोगों की आमदनी भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि इको टूरिज्म का प्रबंधन और मेंटेनेंस विभाग अपने द्वारा ही करे। अधिकारी विशेषज्ञों के साथ जाकर जमीनी मुआयना भी करें और वहां की परिस्थिति के अनुसार व्यावहारिक चीजों पर गौर करते हुए इको टूरिज्म के विकास पर काम करें।

This post has already been read 16389 times!

Sharing this

Related posts