पश्चिम रेलवे : बांद्रा स्टेशन पर खुला नया पैदल ऊपरी पुल

मुंबई  : पश्चिम रेलवे ने COVID-19 महामारी के कारण घोषित देशव्यापी तालाबंदी और इसके फलस्वरूप सीमित कार्यबल के बावजूद विकास के विभिन्न अवसंरचनात्मक कार्य सुनिश्चित किये हैं। गौरतलब है कि वैश्विक महामारी की आपदा की प्रतिकूल परिस्थिति को अवसर में परिवर्तित करके, पश्चिम रेलवे ने अपने मुंबई उपनगरीय खंड पर लॉकडाउन का सबसे अच्छा उपयोग करते हुए विभिन्न फुट ओवर ब्रिज और स्काईवॉक के अनेक निर्माण कार्यों को पूरा किया है और साथ ही कई रोड ओवर ब्रिज के मरम्मत कार्य भी सुनिश्चित किये हैं। 
इसी क्रम में पश्चिम रेलवे ने एक और ढांचागत कार्य पूरा किया है, जिसके अंतर्गत बांद्रा स्टेशन पर एक नये छह मीटर चौड़े फुट ओवर ब्रिज (मध्य) का निर्माण किया गया है। इस नये एफओबी का काम 28 सितम्बर, 2020 को पूरा हुआ और इसे यात्रियों के लिए खोल दिया गया। यह नया एफओबी यात्रियों के लिए बहुत सुविधाजनक साबित होगा, क्योंकि यह पश्चिम की ओर एमसीजीएम स्काईवॉक के माध्यम से पूर्व से पश्चिम सहित स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों को परस्पर जोड़ता है।
पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यह नया एफओबी 80 मीटर लम्बा है और इसकी चौड़ाई 6 मीटर है। इस एफओबी का निर्माण लगभग 5 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इसका निर्माण पुराने मिडिल ट्रस एफओबी के स्थान पर किया गया है, जिसे IIT बॉम्बे द्वारा किये गये सर्वेक्षण की ऑडिट रिपोर्ट में असुरक्षित घोषित किया गया था। इस नये एफओबी का काम अप्रैल, 2019 में पुराने 4.5 मीटर चौड़ाई वाले एफओबी को गिराने के बाद शुरू किया गया था।
पुराने एफओबी को गिराने के साथ नये एफओबी का निर्माण बहुत मुश्किल था, क्योंकि यह दक्षिण की तरफ वाले एफओबी और उत्तर में हेरिटेज संरचना के बीच स्थित था। इस एफओबी के समीप वाले स्थानों पर पीक आवर्स के दौरान यात्रियों की काफी भीड़ रहती थी। इसलिए इसके काम को बांद्रा में यात्रियों की असुविधा को कम से कम करने के लिए कई चरणों में योजना बनाई गई। यहां तक ​​कि स्टॉप बोर्डों को भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्लेटफॉर्म नं. 4 और 5 पर स्थानांतरित किया गया। इसके अलावा, इस एफओबी का काम लॉकडाउन और जनशक्ति की कमी के बावजूद बखूबी सुनिश्चित किया गया।
ठाकुर ने बताया कि यह एफओबी बांद्रा स्टेशन पर सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला एफओबी है, क्योंकि यह पश्चिम की ओर एमसीजीएम स्काईवॉक के माध्यम से पूर्व से पश्चिम सहित सभी प्लेटफार्मों को परस्पर जोड़ता है। इसलिए, इस एफओबी का निर्माण मौजूदा 6 मीटर चौड़े एफओबी के साथ किया गया है और अब इस एफओबी के चालू होने के साथ ही बांद्रा में मध्य एफओबी की कुल चौड़ाई 12 मीटर हो गई है, जो पीक आवर्स में भी सामाजिक दूरी बनाए रखने में मदद करेगी।
ठाकुर ने बताया कि पश्चिम रेलवे के मुंबई उपनगरीय खंड के अंतर्गत अभी तक छह नये फुट ओवर ब्रिज (नये बांद्रा एफओबी सहित) और एक नये स्काईवॉक का निर्माण किया गया है और 6 पुराने एफओबी इस लॉकडाउन अवधि के दौरान गिराये गये हैं। इसके अलावा, लोअर परेल स्टेशन के पास डिलाइल रोड ओवर ब्रिज और ग्रांट रोड स्टेशन के पास फरेरे रोड ओवर ब्रिज पर काम तेज गति से चल रहा है।

This post has already been read 629 times!

Sharing this

Related posts