यूएनडीपी और इन्‍वेस्‍ट इंडिया ने भारत के लिए एसडीजी इनवेस्‍टर मैप किया लॉन्‍च

नई दिल्‍ली : संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) और इन्‍वेस्‍ट इंडिया ने भारत के लिए एसडीजी (सतत विकास लक्ष्‍य) इनवेस्‍टर मैप (निवेशक मानचित्र) गुरुवार को लॉन्‍च किया। इनवेस्‍टर मैप में सतत विकास लक्ष्‍य में सक्षम 6 महत्‍वपूर्ण क्षेत्रों में निवेश के अवसर वाले 18 क्षेत्रों को दिखाया गया है।

इस मौके पर इन्‍वेस्‍ट इंडिया के सीईओ और एमडी दीपक बागला ने कहा कि भारत वैश्विक स्‍तर पर सतत विकास लक्ष्‍य की सफलता निर्धारित करने में महत्‍वपूर्ण स्‍थान रखता है। बागला ने कहा कि ये सक्षम क्षेत्र भारत को सतत विकास की दिशा में ले जाने में मदद करेंगे। उन्‍होंने भारत के लिए एसडीजी निवेशक मानचित्र विकसित करने पर यूएनडीपी इंडिया के साथ सहयोग पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की। 

बागला ने कहा कि ये भारत के विकास की राह में महत्‍वपूर्ण कदम है। उन्‍होंने कहा कि ये मानचित्र बहुत अच्‍छे वक्‍त में आया है। हमें आशा है कि डाटा समर्थित अनुसंधान और पारखी नजर से हमें ये समझने में मदद मिलेगी कि कैसे सबसे अच्‍छे तरीके से भारत में एसडीजी फाइनेंसिंग अंतर को कम किया जाए।

यूएनडीपी इंडिया के रेजिडेंट प्रतिनिधि शोको नोदा ने कहा कि भारत के लिए महत्‍वपूर्ण वक्‍त पर ये मानचित्र आया है। कोविड-19 महामारी फैलने से भारत में एसडीजी के लिए वित्‍त पोषण अंतर बहुत बढ़ा है, जिससे कई दशक की विकास प्रक्रिया धीमी हो गई है। उन्‍होंने कहा कि इस समय एसडीजी सक्षम क्षेत्रों में निवेश करना महत्‍वपूर्ण है। 

नोदा ने कहा कि इस निवेश से हमारी अर्थव्‍यवस्‍था और हमारा समाज अधिक दृढ़ और स्थिर होगा। साथ ही उत्‍पादकता बढ़ाना, टेक्‍नोलॉजी अपनाना और समावेश बढ़ाना तीन महत्‍वपूर्ण क्षेत्र है, जिनका उपयोग मानचित्रों में किया गया है, ताकि निवेशकों के लिए सर्वाधिक आकर्षक क्षेत्रों को चिन्ह्ति किया जा सके।

This post has already been read 1421 times!

Sharing this

Related posts