तालिबान राज में इधर लड़कियां, उधर लड़के और बिच में पर्दा, ये है तालिबानी क्लास रूम!

काबुल : तालिबान अपने को एक नई सोच वाला तालिबान दुनिया के सामने दिखाने की कोशिश कर रहा हो लेकिन इन दावों की सच्चाई सभी के सामने आ रही है। अफगानिस्तान में तालिबान राज आते ही लड़कियों की पढ़ाई पर अंकुश और प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया गया है। सोशल मीडिया पर शेयर की गई एक तस्वीर में देखा जा सकता है कि क्लासरूम में एक ओर लड़कियां बैठी हैं और दूसरी तरफ लड़के। दोनों के बीच में पर्दा लगा हुआ है ताकि वे आपस में घुल-मिल न सकें। दावा किया जा रहा है कि तस्वीर काबुल की एक यूनिवर्सिटी की है।

इसे भी देखे : विधानसभा में नमाज स्थल बनाए जाने का हो रहा है विरोध, विधानसभा में बीजेपी का हरी कीर्तन

सोशल मिडिया में आई तस्वीर ने खोली तालिबानी दावों की पोल
तालिबान ने दावा किया था कि नई सरकार में महिलाओं और बच्चों को उनके अधिकार दिए जाएंगे। इन तस्वीरों ने तालिबानी दावों की पोल खोल दी है। इससे पहले तालिबान के शिक्षा प्राधिकरण ने एक विस्तृत दस्तावेज जारी कर प्राइवेट और यूनिवर्सिटी के लिए नए नियमों की घोषणा की। इन नियमों में बताया गया है कि लड़कियों और महिला छात्रों को किन नियमों का पालन करना होगा। आदेश में कहा गया है कि महिला छात्रों को सिर्फ एक महिला टीचर की पढ़ाएगी। अगर ऐसा संभव नहीं है तो किसी ‘साफ चरित्र वाले’ बुजुर्ग टीचर को ही छात्राओं को पढ़ाने की अनुमति दी जाएगी।

नकाब पहनना जरूरी है क्लास में
तालिबान ने आदेश जारी किया है कि प्राइवेट यूनिवर्सिटी में जाने वाली महिलाओं को पारंपरिक कपड़े और नकाब पहनना जरूरी होगा जो उनके ज्यादातर चेहरे को ढक सके। लड़के और लड़कियों की क्लास को अलग-अलग चलाने या उनके बीच में पर्दा लगाने का भी आदेश दिया गया है। बीते शनिवार को जारी किए गए आदेश में महिलाओं के लिए बुर्का पहनना अनिवार्य नहीं किया गया है लेकिन उन्हें नकाब पहनना होगा। यह आंखों को छोड़कर उनके पूरे चेहरे को ढककर रखेगा।

इसे भी देखे : रैगिंग मामले में एक बार फिर सुर्खियों में रांची का रिम्स

आने-जाने के होंगे अलग-अलग रास्ते
तालिबान का यह आदेश ऐसे समय पर आया है जब अफगानिस्तान में प्राइवेट यूनिवर्सिटी सोमवार से खुलने की तैयारी कर रही हैं। आदेश में कहा गया है कि परिसर में महिला और पुरुषों के आने-जाने के लिए अलग-अलग रास्ते होंगे। तालिबानी फरमान में कहा गया है कि महिलाओं को अपनी क्लास पुरुषों की तुलना में पांच मिनट पहले खत्म करनी होगी ताकि उन्हें बाहर घुलने-मिलने से रोका जा सके। क्लास के बाद जब तक पुरुष बिल्डिंग से बाहर नहीं निकल जाते महिलाओं को अपनी क्लास में ही इंतजार करना होगा।

This post has already been read 28073 times!

Related posts