नौ लाख की लूट मामले में चालक सहित दो गिफ्तार, एक लाख नकद बरामद

दुमका। पुलिस ने लेज और कुरकुरे कंपनी से करीब नौ लाख की लूट की घटना को अंजाम देने वाला साजिशकर्ता वैन चालक सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। लूट की घटना को अंजाम देने वाला यह गिरोह अंतर्राज्यीय है। पुलिस आरोपितों को बंगाल पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार किया है। अपराधियों के पास से एक लाख रुपये नकद और घटना में प्रयुक्त बाइक तथा मोबाइल बरामद किए हैं। 

एसपी वाई एस रमेश ने बुधवार को प्रेसवार्ता में बताया कि गिरफ्तार अपराधी पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के नलहट्टी थाना क्षेत्र के कोईगोड़िया गांव निवासी रमजान शेख एवं आशिक है। एसपी ने बताया कि वारदात को अंजाम देने वाला गिरोह का सरगना नलहट्टी थाना क्षेत्र काइगोड़िया गांव निवासी का कालू उर्फ नूर इस्लाम, मुरारो थाना क्षेत्र के नैनीगंगाडाह गांव के मो राजा एवं पाकुड़ जिला के रद्दीपुर थाना क्षेत्र के गंगाडाह गांव निवासी मो. फिरोज फरार हैं,  जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

एसपी ने बताया कि अपराधियों ने लूट की वारदात को 20 अक्टूबर को जिले के गोपीकांदर थाना क्षेत्र के दुमका-पाकुड़ मुख्य पथ पर जियापानी ढलान पर अंजाम दिया था। अपराधियों ने टाटा 407 ट्रक के चालक रमजान कई मिलीभगत से चाकू के नोँक पर 8.90 लाख रुपये की लूट की घटना को अंजाम दिया था। अनुसंधान के क्रम में वारदात को अंजाम देने की स्वीकारोक्ति बयान में 75-75 हजार रुपये आपस में बांटने की  बात स्वीकारी। अन्य राशि गिरोह के सरगना अपराधियों के पास होने की बात कही। पुलिस गिरफ्तार अपराधियों के पास से 50-50 हजार रुपये बरामद कर चुकी है। दोनों ने 25-25 हजार रुपये खर्च होने को स्वीकारा है। अपराधियों की निशानदेही पर पुलिस घटना में प्रयुक्त बाइक भी बरामद कर ली है। 

एसपी ने बताया कि चालक द्वारा दिए जानकारी पर अपराधियों ने रेकड़ी कर घटना को अंजाम दिया है। लेज और कुरकुरे की कंपनी पश्चिम बंगाल नलहट्टी की है। वर्षो से रमजान ट्रक से पश्चिम बंगाल, झारखंड सहित बिहार के सीमावर्ती इलाकों में माल पहुंचाने और कैश कलेक्शन का काम करता था।

This post has already been read 343 times!

Sharing this

Related posts