चोरी के 13 मोबाइल फोन, हथौड़ा और टाॅर्च बरामद

खूंटी। तोरपा थाना पुलिस ने बाल चोर गिरोह का खुलासा करते हुए सात नाबालिग बच्चों को निरूद्ध किया है। निरूद्ध किये बच्चों के पास से चोरी के 13 मोबाइल फोन , हथौड़ा और टाॅर्च बरामद किये गये हैं। निरूद्ध किये गये सभी बच्चों की उम्र सात से 11 वर्ष के बीच है। निरूद्ध किये बच्चों ने तोरपा क्षेत्र की दुकानों में हुई चोरी का भी खुलासा किया है। सभी बच्चों को विधि विवादित किशोर (सीसीएल) मानते हुए पुलिस ने जेजे बोर्ड को सुपुर्द कर दिया। जानकारी के अनुसार मंगलवार की देर रात दो बच्चे मेन रोड स्थित एक खिलौने की दुकान में ताला तोड़ कर चोरी का प्रयास कर रहे थे।

बच्चों ने आसपास की दुकानों के साइन बोर्ड को चारों ओर से घेर लिया था, ताकि दुकान का ताला तोड़ेते उन्हें कोई न देखे। उसी समय पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी वहां पहुंची और बच्चों से पूछताछ की। बच्चों ने विभिन्न चोरी की घटना में शामिल बच्चों के नाम पुलिस को बता दिये। उनकी निशानदेही  पर और बच्चों को निरूद्ध कर उनके पास से चोरी के मोबाइल बरामद किये गये। सुबह बच्चों के अभिभावकों को थाना बुलाया गया।

निरूद्ध किये बच्चों ने पुलिस के समक्ष मोबाइल दुकान, मिठाई दुकान और पान गुमटियों में चोरी में अपनी संलिप्तता पुलिस के समक्ष स्वीकारी। एक बच्चे की निशानदेही पर बस स्टैंड स्थित मोबाइल दुकान से सोमवार को चोरी गया मोबाइल को भी कर्रा रोड की एक दुकान से पुलिस ने बरामद कर लिय। बच्चे ने दो हजार रुपये में चोरी के उस मोबाइल को कर्रा रोड के मोबाइल दुकानदार अमजद बेचा था। पुलिस ने अमजद को हिरासत में लिया है।

शराब और सिगरेट का भी करते हैं सेवन 

पुलिस अधिकारियों और बच्चों के मां-बाप की आंखें उस समय खुली रह गयी, जब बच्चों ने स्वीकार किया कि वे शराब और सिगरेट का भी सेवन करते हैं। इंस्पेक्टर  दिग्विजय सिंह और थाना प्रभारी सुदामा कुमाद दास ने कहा कि घर में ही बच्चों ने अपने पिता द्वारा लायी गयी शराब का पहली बार सेवन किया था। अधिकतर बच्चों ने स्वीकार किया कि उन्होंने सबसे पहली चोरी अपने ही घर में की थी। शराब और सिगरेट खरीदने और मोबाइल में गाना सुनने के लिए उन्होंने चोरी की। 

This post has already been read 161 times!

Sharing this

Related posts