ई-मुलाकात के माध्यम से उपायुक्त ने अधिकारियों को दिये महत्वपूर्ण दिशा निर्देश

सिमडेगा: ई-मुलाकात के माध्यम से उपायुक्त सिमडेगा मृत्युंजय कुमार बरणवाल ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों एव अंचलाधिकारियों से कोविड-19 से संबंधित की समीक्षा बैठक। उपायुक्त सिमडेगा मृत्युंजय कुमार बरणवाल को जानकारी प्राप्त हुई कि 24 अप्रैल 2020 को ठेठईटांगर में कुछ लोग बाहर से आयें है। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी ठेठईटांगर को बाहर से आये व्यक्तियों को कोरेन्टाईन करने का निर्देश दिया। वहीं उपायुक्त ने कोरेन्टाईन केन्द्र में रह रहें सभी व्यक्तियों को सामाजिक दूरी के साथ-साथ अनिर्वाय रूप से मास्क का प्रयोग करने का निर्देश दिया। प्रखण्ड स्तर पर जिला योजना विभाग एवं मनरेगा से पारित योजनाओं को शुरू करने का निर्देश दिया। ग्रामीण क्षेत्र में महुंआ एवं केन्दुआ पत्ता जैसे ग्रामीण व्यवसाय में पूरी तरह से छुट है यह कार्य अनवरत चलते रहेंगे। समीक्षा के दौरान प्रखण्ड विकास पदाधिकारी बानो श्री समीर खलखो ने बताया कि प्रमुख किराना होल सेलर सह रिटेलर दुकानदार को दो से तीन बार चेतावनी देने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क का अनिर्वाय रूप से प्रयोग नहीं करने के आरोप में दुकान को सील करते हुए प्राथमिकी दर्ज कर दिया गया है। उपायुक्त ने कहा कि सामाजिक दूरी तथा मास्क का प्रयोग अनिर्वाय है। चेतावनी देने के बावजूद भी आदेशों का अनुपालन नहीं करने वाले व्यक्ति एवं दुकानदार पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी बांसजोर ने बताया कि प्रखण्ड स्तर पर कुछ कार्ड धारियों के सदस्य की या तो मृत्यु हो गई या शादी होकर दूसरे जगह चले गए है। पीडीएस डीलर के द्वारा उनके नाम से राशन का उठाव किया जा रहा है। परन्तु डीलर कार्ड धारी को उक्त व्यक्ति का राशन काट कर दे रहे है। इस पर उपायुक्त ने आदेश दिया कि ये वित्तीय अनियमिता है। डीलर लिखित में मृत या शादी हो चुके व्यक्ति का नाम राशन कार्ड से हटाने के लिए जिला आपूर्ति पदाधिकारी को दें। ताकि यह लाभ किसी जरूरत मन्द को दिया जा सके। इस संबंध में सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को जांच रिर्पोट देने का आदेश दिया। समीक्षा बैठक में उपविकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, अनुमण्डल पदाधिकारी सहित जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थें।

This post has already been read 3781 times!

Sharing this

Related posts