पैरों को मजबूत बनाएंगे ये आसान योगासन

पैरों के कमजोर होने से आपके पूरे शरीर पर इसका असर पड़ता है। आपके पैर शरीर को स्थिर रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। पैरों की कमजोरी को योग के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। कुछ विषेश योग ना केवल आपके पैरों को मजबूती प्रदान करते हैं। इन योगासनों के जरिये आपके पूरे पैर की स्ट्रेचिंग होती है जिसकी वजह से पैरों की अन्य समस्याएं भी दूर होती हैं।

1-उत्थिता हस्त पादंगुष्ठासन: उत्थिता हस्त पादंगुष्ठासन पैरों को मजबूत करने के साथ जांघों की मांसपेशियों को स्ट्रैच करने में मदद करता है। साथ ही यह आसन आपके पैरों को शेप में लाने, एड़ियों को स्ट्रेच करके शरीर के संतुलन में सुधार करता है।

करने की विधि:  इसे करने के लिए बिल्कुल सीधे खड़ें हो जाएं और अपना संतुलन बनाए रखें। अब दाएं हाथ की अंगुलियों से अपने पैर की अंगुलियों को पकड़ें। अब धीरे-धीरे अपने दाएं पैर को आगे की तरफ स्ट्रैच करें। ध्यान रहे आपका बायां पैर और कमर सीधी रहे और इसी मुद्रा में रहें और गहरी सांस लें।

2-अर्ध भेकासन: अर्ध भेकासन आपकी जांघ, एड़ियों और शरीर के आगे के भाग को स्ट्रैच करने में मदद करता है। साथ ही यह आपके घुटनों के जोड़ों को ठीक करने में मदद करता है।

करने की विधि: यह आसन करने के लिए पेट के बल लेट जाएं। दोनों पैरों को एक साथ रखें और पैरों की अंगुलियों को छूने दें। अपनी हथेलियों को सिर के पास एक हाथ की दूरी पर रखें। अब अपने हाथों को स्ट्रैच करते हुए सिर को ऊपर की तरफ उठाएं। इसके बाद अपना दायां घुटना मोड़ते हुए एड़ी को दाएं कूल्हे की तरफ ले आएं। अब अपना दायां हाथ फर्श से हटाते हुए अपने पैर को पकड़ लें। अपने बाएं पैर से फर्श पर अपना संतुलन बनाए रखें। इसी मुद्रा में 30 सेकेंड तक रहें। इसी तरह से बाई तरफ से भी करें।

3-वृक्षासन: वृक्षासन पैरों को मजबूती देने के साथ आपके संतुलन में सुधार करता है। यह आपकी एड़ियों को भी मजबूती प्रदान करता है। साथ ही यह साइऐटिक से होने वाले सीधे पैर को ठीक करने में मदद करता है।

करने की विधि: इसे करने के लिए बिल्कुल सीधा खड़े हो जाएं। अब अपने दाएं घुटने को मोड़कर उसे बाएं पैर की जांघ पर रखें। अपने बाएं पैर को बिल्कुल सीधा रखें और अपना संतुलन बनाए रखें। अब अपने हाथों को उठाएं और दोनों को मिलाकर नमस्ते करते हुए सिर के ऊपर ले जाएं। एक बात का ध्यान रखें आपके हाथ और कमर बिल्कुल सीधे हो। अब इसी मुद्रा में कुछ देर रहें और गहरी सांस लें।

4- लघु वज्रासन: लघु वज्रासन करने से जांघों को सही शेप में लाया जा सकता है साथ ही इससे आपका पाचन तंत्र में सुधार होता है।

करने की विधि: इसे करने के लिए सबसे पहले घुटनों के बल फर्श पर बैठ जाएं और आपकी जांघे आपकी एड़ियों से 90 डिग्री पर होने चाहिए। अब अपने हाथों को जांघों पर रखकर शरीर को पीछे की तरफ ले जाएं। इसे करते समय आपको जांघों और नितम्बों पर दबाव महसूस होगा। अब अपने हाथों को जांघों पर रखें और सिर को पैरों पर रखें। इसी मुद्रा में कम से कम 30-60 सेकेंड तक रहें।

This post has already been read 2092 times!

Sharing this

Related posts