ईएसआई सहित कई समस्याएं हैं जिस पर अधिकारी स्तर पर निर्णय लिया जाना चाहिए था

झारखंड : झारखंड ऊर्जा विकास निगम के सभी एरिया बोर्ड और ट्रांसमिशन जोन में बकाया वेतन मान और एरियर सहित अपनी विभिन्न मांगों को लेकर झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ अब आंदोलन का रुख अख्तियार कर लिया है इसी क्रम में खूंटी सिमडेगा गुमला लोहरदगा के दौरे के उपरांत झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ के अध्यक्ष अजय राय आज हजारीबाग में बैठक की। जिसमें हजारीबाग के सैकड़ों सदस्यों ने 5 फरवरी से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया।
इस अवसर पर श्रमिक संघ के केंद्रीय अध्यक्ष अजय राय ने कहा कि राज्य के सभी विधुत सप्लाई एरिया बोर्ड में 6 माह से कामगारों का वेतन भुगतान नही हो पा रहा है वही 4 वर्षों का एरियर भी नही मिल पाया है वही हजारीबाग के कर्मियों को 3 महीने से वेतन नहीं मिल पाया। वही टॉप कंपनी द्वारा 2017 का 8 महीने का वेतन भी लंबित है वही इपीएफ ईएसआई सहित कई समस्याएं हैं जिस पर अधिकारी स्तर पर निर्णय लिया जाना चाहिए था पर नहीं लिया जा रहा है इन परिस्थितियों में आंदोलन के अलावा कही कोई दूसरा चारा नही है ।
अजय राय ने कहा कि ऊर्जा निगम में पांच अलग अलग विभागों को संभाल रहे के.के वर्मा जैसे अधिकारियों का कार्यकाल की जांच होना चाहिए जो अपने आप को ऊर्जा विकास निगम का सर्वे सर्वा मान कर ऊर्जा निगम के निर्णय को भी धता बताते हुए नियम विरुद्ध काम कर रहे है ।
अजय राय ने कहा कि 5 फरवरी से पूरे राज्य स्तर पर आंदोलन सुरु किया जा रहा है और इसकी तैयारी को लेकर रांची,खूंटी, सिमडेगा, गुमला,लोहरदगा, के बाद आज हजारीबाग में बैठक कर तैयारी शुरू कर दिया है।
अजय राय ने बताया कि 21 जनवरी को झारखंड ऊर्जा विकास निगम के सीएमडी श्री अविनाश कुमार को ज्ञापन सौंपा जाएगा और समय सीमा के अंदर समाधान की मांग की जाएगी।

This post has already been read 1024 times!

Sharing this

Related posts