मजदूर ही हैं विधानसभा भवन के असली शिल्पकारः मुख्यमंत्री

कहा, प्रधानमंत्री विशेष तौर पर मजदूरों और कामगारों से मिलना चाहते थे

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य को 19 साल के बाद उसकी सबसे बड़ी पंचायत का भवन मिला है। उसके लिए बधाई के असली हकदार मजदूर और कामगार हैं, जिन्होंने दिन-रात एक कर अपने खून-पसीने से इसे सींचा है। आपकी मेहनत देख कर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी काफी खुश थे। उन्होंने विशेष तौर पर सभी कामगारों को बधाई दी है। वे खुद भी आपसे मिलना चाहते थे, लेकिन समय के अभाव के कारण कल वे आपसे नहीं मिल पाए। ये बातें मुख्यमंत्री दास ने नवनिर्मित विधानसभा के कामगारों एवं मजदूरों से मिलते हुए कहीं। सत्र की समाप्ति के बाद अपने कार्यालय जाते समय उन्होंने वहां कार्यरत मजदूरों से बातें की, उनसे हाथ मिलाया और तस्वीरें भी खिंचवाईं। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड विधानसभा के इस नवनिर्मित भवन की चर्चा पूरे देश में है। उन्होंने वहां कार्यरत सभी मज़दूर एवं कर्मियों के लिए विशेष कैम्प लगाकर उन्हें पंजीकृत करने का निर्देश दिया, ताकि सरकार द्वारा उनके हित में चलाई जा रही योजनाओं का लाभ उन्हें मिल सके। इसमें दुर्घटना बीमा, स्वास्थ्य बीमा, मज़दूरों के बच्चों की पढ़ाई आदि के लाभ मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे खुद भी मज़दूर रहे हैं इसलिए मज़दूरों का दर्द जानते हैं। यही कारण है कि मज़दूरों के हित में कई योजनाएं शुरू की गई हैं। उनका लक्ष्य है कि हर किसी को इसका लाभ मिले।

This post has already been read 300 times!

Sharing this

Related posts