Khunti : महिला के आत्महत्या करने से अनाथ हुए बच्चों की जिला प्रशासन ने ली सुध

खूंटी। जिले के घाघरा ग्राम में महिला पूनम देवी की मौत से चार बच्चे हुए अनाथ हो गये। गौरतलब है कि 2017 में पूनम के पति राजेन्द्र महतो की अपराधियों ने हत्या कर दी थी।  मामले के संज्ञान लेते हुए उपायुक्त सूरज कुमार के निर्देश पर जिला बाल संरक्षण इकाई व चाइल्ड लाइन की टीम ने मंगलवार को घाघरा गांव का दौरा किया और गांव वालों से बातचीत की गयी। जांच में यह बात सामने आयी कि दो बच्चों को आर्थिक मदद की आवश्यकता है, जिससे दोनों बच्चों की शिक्षा, चिकित्सा और पोषण की उचित व्यवस्था हो सके। इस संबंध में जिला प्रशासन के अनुरोध पर स्वयंसेवी संस्था सहयोग विलेज की अध्यक्ष  परमजीत कौर ने उन दोनों बच्चों को स्पॉन्सर करने की इच्छा जताई है। उल्लेखनीय है कि रनिया गांव में अनाथ हुए चार बच्चों को भी सहयोग विलेज द्वारा स्पॉन्सर किया गया है। इस योजना के तहत दोनों बच्चों को प्रतिमाह दो हजार रुपये शिक्षा, चिकित्सा एवं पोषण के लिए दिये जायेंगे।

This post has already been read 2250 times!

Sharing this

Related posts